ज्ञानवापी में हिन्दू पक्ष की हुई बड़ी जीत, मिला पूजा-पाठ का अधिकार, कोर्ट ने नकारा मुस्लिम पक्ष का दावा 

On

वाराणसी: साल 1993 से वंचित हिन्दू पक्ष अब ज्ञानवापी परिसर में पूजा कर सकेगा। इसको लेकर जिला कोर्ट ने बुधवार को मुस्लिम पक्ष के दावे को नकारते हुए अपना फैसला दिया है। कोर्ट ने हिन्दू पक्ष को परिसर में मौजूद व्यास तहखाने में पूजा-पाठ की अनुमति दे दी है। हालाँकि इसको लेकर मुस्लिम पक्ष हाई कोर्ट जाएगा। इस फैसले से हिन्दू पक्ष की याचिकाकर्ताओं में बेहद ख़ुशी है।

जिला जज ने अपने आदेश में कहा है कि विश्वनाथ मंदिर के पुजारियों से पूजा कराई जाए बैरिकेडिंग हटाने की व्यवस्था की जाए। याचिका में सोमनाथ व्यास जी के नाती शैलेन्द्र पाठक ने तहखाने में पूजा पाठ की मांगी थी इजाजत। 17 जनवरी को व्यास जी के तहखाने को जिला प्रशासन ने कोर्ट के आदेश से अपने नियंत्रण में ले लिया था। एएसआई सर्वे कार्रवाई के दौरान तहखाने की हुई थी साफ-सफाई। 

यह भी पढ़े - कुछ सभासदों ने किया नगर पालिका परिषद बोर्ड की बैठक का बहिष्कार, लगाये गंभीर आरोप

वहीं इस आदेश के बाद मुस्लिम पक्ष में नाराजगी देखी जा रही है। वो इस फैसले के खिलाफ हाईकोर्ट जाएगा। वहीं इस मामले के याचिकाकर्ता ने कहा कि आज काशी बम बम बोल रहा है। 1993 से हमें पूजा का अधिकार नहीं मिला था। बता दें कि इस फैसले के बाद हिंदू पक्ष सबसे पहले तहखाने का शुद्धिकरण करेगा, जिसके बाद गणेश पूजन होगा जिसके बाद भगवान शिव का रुद्राभिषेक किया जाएगा। बता दें कि एएसआई की रिपोर्ट को देखने और उस पर गहनता से विचार के बाद जिला कोर्ट ने यह निर्णय दिया है। 

Ballia Tak on WhatsApp

Comments

Post A Comment

Popular Posts