उन्नाव: विवाद के बाद पति ने फंदा लगाकर दी जान तो छत से कूदी पत्नी, हालत गंभीर

On

उन्नाव। उन्नाव की सदर कोतवाली अंतर्गत शहर के मोहल्ला जवाहर नगर में पति-पत्नी में हुए विवाद के बाद पति ने कमरे में पंखे के कुंडे के सहारे फांसी लगा जान दे दी। पति के फांसी लगाने के बाद पत्नी ने भी छत से छलांग लगा दी। पत्नी को घायलावस्था में जिला अस्पताल लाया गया। जहां से उसे लखनऊ के लोक बंधु अस्पताल रेफर कर दिया गया। 

वहीं कोतवाली पुलिस ने जांचकर शव पोस्टमार्टम के लिए भेजा। महिला की मां ने ससुरालियों पर मारने के लिए दौड़ने पर बेटी के कूदने का आरोप लगाया है। वहीं ससुरालियों ने भी पुलिस को तहरीर दी गई। बता दें कि अभिषेक (30) पुत्र स्व. राजेंद्र सिंह बब्बू सदर कोतवाली के मोहल्ला जवाहर नगर में रहता था। वह कानपुर स्थित सर्राफा दुकान में नौकरी करता था। उसकी शादी बीती 29 मई को सोहरामऊ थानाक्षेत्र निवासी राम शंकर की बेटी लक्ष्मी उर्फ शीलू से हुई थी। पत्नी के अक्सर मायके जाने, फोन से बात करने  और पति के शराब पीने की वजह से दोनों में विवाद होता था। 

रविवार को भी दोनों में झगड़ा हुआ। जिसके बाद अभिषेक ने रात में कमरे में लगे पंखे के सहारे साड़ी का फंदा बनाकर फांसी लगा ली। इसके बाद पत्नी लक्ष्मी भी संदिग्ध हालत में छत से गिर गई। महिला को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने अभिषेक का शव फंदे से उतरवाकर मोर्चरी भेजा।  जानकारी होने पर महिला की मां किरण व पिता सहित अन्य परिजन दामाद के घर पहुंचे। आरोप है कि उनके साथ अभद्रता की गई। बेटी के गिरने की जानकारी पर वे लोग अस्पताल गए।

जहां से उसे पहले हैलट फिर लखनऊ रेफर कर दिया गया। मां  किरण ने बताया कि दामाद के फंदे से लटकने के बाद घर वालों ने बेटी को मारने के लिये दौड़ाया था। मार के डर से वह छत से कूद गई। उधर अभिषेक को मौत पर दिव्यांग मां माया सिंह, भाई विकास व आकाश बिलख उठे। दोनों ओर से पुलिस को तहरीर दी गई है। कोतवाल अश्वनी मिश्र ने बताया कि दोनों पक्षों से तहरीर मिली है। मामले की जांच की जा रही है। 

यह भी पढ़े - फ़तेहपुर: स्वास्थ्य विभाग ने शांति मिशन हॉस्पिटल को बंद कर दिया है.

Ballia Tak on WhatsApp

Comments

Post A Comment