Sultanpur news: मां ने चाकू से 9 साल की बेटी का रेता गला

On

सुल्तानपुर। कलयुगी मां ने नौ साल की बेटी का गला रेत दिया। आनन-फानन में बच्ची को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र चांदा लाया गया, जहां हालत नाजुक देख डॉक्टर ने राजकीय मेडिकल कॉलेज रेफर किया।

सुल्तानपुर। कलयुगी मां ने नौ साल की बेटी का गला रेत दिया। आनन-फानन में बच्ची को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र चांदा लाया गया, जहां हालत नाजुक देख डॉक्टर ने राजकीय मेडिकल कॉलेज रेफर किया। इस बीच हायर सेंटर ले जाते समय रास्ते में बच्ची की हालत बिगड़ी तो एम्बुलेंस चालक ने उसे लंभुआ सीएचसी पहुंचाया। जहां बच्ची की मौत हो गई। पुलिस इस पूरे मामले में जांच पड़ताल में जुट गई है।

जानकारी के अनुसार घटना जिले के चांदा कोतवाली क्षेत्र अंतर्गत कोइरीपुर चैकी क्षेत्र के विवेक नगर वार्ड की है। यहां शिवपूजन ओझा की पुत्री नीलू बेटी परिधि को लेकर मायके में रह रही थी। मंगलवार सुबह मां बेटी में किसी बात को लेकर नोक झोंक हो गई। जिसमें मां ने आपा खो दिया, नीलू ने हाथ में सब्जी काटने वाला चाकू ले रखा था। उससे बेटी का गला रेत दिया। जब खून बहने लगा तो परिवार में कोहराम मच गया। आनन-फानन में शिवपूजन परिधि को लेकर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र चांदा लेकर पहुंचे।

सीएचसी पर डॉक्टरों ने परिधि का फस्ट एड किया और हालत नाजुक देखते हुए उसे राजकीय मेडिकल कॉलेज सुल्तानपुर रेफर किया। सरकारी एम्बुलेंस से बच्ची को ले जाया जा रहा था कि रास्ते में हालत बिगड़ गई। तो एम्बुलेंस चालक ने बच्ची को लंभुआ सीएचसी में छोड़ा और भाग निकला। लंभुआ सीएचसी में डॉक्टर ने बेटी की जांच पड़ताल किया और राजकीय मेडिकल ले जाने को कहा, लेकिन तब तक एम्बुलेंस जा चुकी थी। ऐसे में इलाज के आभाव में बच्ची की मौत हो गई। उधर बच्ची की मौत से कोहराम मच गया है। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजवाया है।

पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है। बताया जा रहा है कि मृतका परिधि (09) के पिता राहुल पांडेय की चार वर्ष पूर्व मौत हो चुकी है। साल भर पहले परिधि की मां नीलू ने दूसरी शादी की, वो पति के साथ मुंबई में रहती थी। दिमागी संतुलन गड़बड़ होने के बाद तीन माह पहले वो बेटी को लेकर मायके आई थी। प्रयागराज में उसका इलाज चल रहा था। लंभुआ सीओ अब्दुस सलाम ने बताया कि पुलिस हर पहलू पर जांच कर रही है।

यह भी पढ़े - फैज से मारपीट करने वाले सिपाही को बचाने के लिए पुलिस ने किया खेल, नहीं लगाई अपहरण की धारा 

Ballia Tak on WhatsApp

Comments

Post A Comment