सीतापुर: दलित महिलाओं के साथ हो रहे दुष्कर्मों पर लगे पूर्णतया प्रतिबंध

On

सीतापुर। पश्चिम बंगाल के उत्तर चौबीस परगना जिले के संदेशखाली क्षेत्र की महिलाओं के साथ तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओ द्वारा यौन शोषण किया जा रहा है।अभाविप सीतापुर के कार्यकर्ताओं ने मानवता को शर्मसार करने वाली संदेशखाली घटना से आहत हो कर जिलाधिकारी कार्यालय का घेराव किया।अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की प्रांत कार्यकारिणी सदस्य साक्षी शुक्ला ने राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन सिटी मजिस्ट्रेट कृष्णनंद तिवारी को ज्ञापन सौंपकर बताया कि पश्चिम बंगाल में सत्तारूढ़ पार्टी के नेताओं द्वारा दलित घरों की जबरन नाबालिग कन्याओं व महिलाओं को चिन्हित कर उनका भयपूर्वक अपहरण कर राज्य में सत्तारूढ़ पार्टी के कार्यालय में लाकर अत्याचार, दुराचार करने के कई जघन्य मामले सामने आये हैं।

पीड़िताओं में अधिकांश महिलाएं अत्यंत पिछड़े एवं अनुसूचित वर्ग की हैं पश्चिम बंगाल राज्य की महिला मुख्यमंत्री के संरक्षण से वर्षों के शारीरिक एवं मानसिक शोषण से तंग आकर संदेशखाली की हज़ारों महिलाएं आज राज्य सरकार के खिलाफ आंदोलनरत हैं। इस अवसर पर विभाग संगठन मंत्री अजय प्रताप शुक्ला,प्रांत कार्यकारिणी सदस्य साक्षी शुक्ला, पवन तिवारी, आयुष शुक्ला एवं क्षमा पटवा, कालेज मंत्री विदुषी मिश्र, विभाग संयोजक विजय शंकर पांडेय, जिला संयोजक अभिषेक बाजपेई, अलख कांत श्रीवास्तव,अनुराग मिश्र, हर्षित पांडेय, शिवा अवस्थी,गोपाल ,अमन दीक्षित , सुमित मिश्रा,मानस त्रिपाठी,सत्यम वर्मा,शिवम वर्मा, कार्तिक शुक्ला, नारायण मिश्रा,आंनद शुक्ला, आदर्श सिंह , प्रबल बाजपेई , गौरव गुप्ता, आयुष अवस्थी, मयंक मिश्रा, शोभित तिवारी, विकास वर्मा,शोभित शुक्ला,सुमित अवस्थी, रवि राठौर, पुनीत कुमार, आदि कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

यह भी पढ़े - महात्मा ज्योतिबा राव फुले सेवा समिति द्वारा आयोजित सामूहिक विवाह में 46 जोड़ें दाम्पत्य सूत्र बन्धन में बंधे

Ballia Tak on WhatsApp

Comments

Post A Comment

Popular Posts