प्रयागराज : दलित महिला से चलती कार में गैंगरेप, दरोगा समेत चार सिपाहियों पर आरोप

On

प्रयागराज: चलती कार में दलित महिला के साथ गैंगरेप का बड़ा मामला संज्ञान में आया है। एक दरोगा और चार पुलिसकर्मियों पर इस घटना को अंजाम देने का आरोप है। मामले में जंघई पुलिस चौकी इंचार्ज सहित 4 लाेगाें पर दलित महिला ने नशे की हालत में गैंगरेप करने का आरोप लगाया है। महिला का आरोप है कि उसके साथ चलती कार में जबरियन गैंगरेप किया गया। उसकी अश्लील वीडियो भी बनाई गयी है। इस मामले की जांच एसीपी हंडिया को सौंपी गई है।

जानकारी के मुताबिक सरायममरेज थाना क्षेत्र के मधईपुर की रहने वाली एक दलित महिला के मुताबिक एक सप्ताह पूर्व उसके मोबाइल पर किसी का धमकी भरा फोन आ रहा था। जिसकी शिकायत करने के लिये वह जंघई पुलिस चौकी गयी हुई थी। वहां मौजूद चौकी इंचार्ज सुधीर पांडेय ने कार्रवाई करने की  बात कहते हुए वापस भेज दिया था। महिला ने आरोप लगाया है कि 21 सितंबर की शाम चौकी इंचार्ज सुधीर पांडेय ने उसे फोन कर बताया कि धमकी देने वाला व्यक्ति भदोही का है। उसके बाद दरोगा सुधीर पांडेय ने मुझे साथ में भदोही चलने की बात की। जिसके बाद युवक के खिलाफ कार्रवाई की बात पर मैं शाम छह बजे चौकी पर पहुंची। यहां से सुधीर पांडेय मुझे कार (UP32JN0573) में लेकर भदोही चल दिए। महिला ने बताया कि रास्ते में सुधीर पांडेय ने दुर्गागंज के पास जबरदस्ती मुझे कोल्ड ड्रिंक पिलाया। इसके बाद मैं बेसुध होने लगी। मेरे साथ बलात्कार किया और अश्लील वीडियो बनाया गया। 

यह भी पढ़े - डीएम ने जिला उद्योग बन्धु समिति की बैठक में दिए निर्देश

महिला ने तहरीर में लिखा है कि शराब के नशे में धुत सुधीर पांडेय की कार वापस प्रयागराज आते समय गौरा थाना दुर्गागंज जिला भदोही के पास कार आम के पेड़ से टकराकर क्षतिग्रस्त हो गई। एक्सीडेंट से मेरे सिर में गम्भीर चोटें आईं है। एक्सीडेंट की सूचना पर डायल 112 पहुंची। पुलिस सुधीर पांडेय और मुझे जंघई पुलिस चौकी ले गई। घटना को छिपाने के लिए सुधीर पांडेय ने अर्जुन, सभाजीत पुत्र राजपति और सन्तोष पांडेय पुत्र शमभूनाथ से जान से मारने की भी धमकी दी है। महिला ने बताया, मेरे साथ पहले गैंगरेप किया गया। हादसे से सिर में चोट लगी। इसके अलावा लगातार मिल रही धमकी से मैं डर के साथ सदमे में आ गयी थी। जब मुझे राहत मिली तो मैंने पुलिस को तहरीर दी है। 

डीसीपी गंगानगर रवि शंकर मिश्र ने कहा कि घटना की जानकारी सोशल मीडिया से पता चलने के बाद मामले को संज्ञान मे लेते हुए एसीपी हंडिया को जानकारी दी गयी है,  मामले मे जांच की जा रही है। पीड़िता की तहरीर के आधार पर जांच शुरु कर दी गयी है। दरोगा की संलिप्तता पाए जाने पर निलंबन की कार्रवाई की जायेगी। इसके अलावा अन्य वैधानिक कार्रवाई भी की जायेगी। फिलहाल मामले की जांच की जा रही है। 

Ballia Tak on WhatsApp

Comments

Post A Comment