प्रयागराज: रेप केस में फंसे दरोगा सस्पेंड, दलित महिला ने एसआई समेत चार पर लगाया है आरोप

On

प्रयागराज: प्रयागराज के सरायममरेज थाना अंतर्गत जंघई पुलिस चौकी के दरोगा को अय्याशी करना मंहगा पड़ गया। दलित महिला के साथ दुष्कर्म करने के आरोप में मुकदमा दर्ज किये जाने के साथ बुधवार को उन्हें निलंबित कर दिया गया। मामले की जांच की जा रही है। मामले की जांच एसीपी गंगानगर कर रहे है।

बता दे कि बीते 21 सितंबर को दलित महिला के साथ जंघई चौकी इंचार्ज और उसके साथ रहे तीन अन्य पुलिसकर्मियों पर दुष्कर्म का आरोप लगाए जाने के मामले में मंगलवार को अधिकारियों के आदेश पर गंभीर धाराओ में मुकदमा दर्ज कर लिया गया था। 

यह भी पढ़े - बलिया पुलिस के हत्थे चढ़ा 11 वर्षीय बच्चे का हत्यारा

बुधवार को चल रही आगे की विभागीय कार्रवाई में चौकी प्रभारी सुधीर पांडेय को निलंबित कर दिया गया है। वहीं अन्य 3 साथियों के खिलाफ जांच की जा रही है। टीम घटनास्थल पर भी जाकर जांच करेगी। इस मामले टीम जंघई चौकी इंचार्ज समेत सभी आरोपियों से पूछताछ करेगी। इसके बाद महिला के भी बयान दर्ज किया जाएगा।

क्या था मामला
प्रयागराज जिले के सरायममरेज थाना क्षेत्र स्थित मधईपुर निवासी अनुसूचित जाति की महिला ने मंगलवार को पुलिस थाने मे तहरीर दिया था। उसने बताया था कि उसे पिछ्ले कई दिनों से कोई अनजान व्यक्ति फोन कर अश्लील बातें करता और धमकाता था। जिसकी शिकायत लेकर वह जंघई चौकी इंचार्ज के पास गई थी। 

दरोगा ने उससे प्रार्थना पत्र लेकर उसे वापस घर भेज दिया। 21 सितंबर की शाम 6 बजे दरोगा ने उसे फोन कर कहा कि जो तुम्हे फोन करता है उसका पता चल गया है। उसे गिरफ्तार करने चलना है। पुलिस चौकी पर आ जाओ। आरोप है कि वह जैसे ही पुलिस चौकी पहुंची उसे लेकर दरोगा व 3 सिपाही निजी कार से भदोही के रास्ते की ओर लेकर चले गए।

दुर्गागंज बाईपास पर ही दरोगा सुधीर पांडेय अपनी कार ( UP32JN0573) में बैठे थे।  सुधीर पांडेय ने जबरजस्ती खींचकर अपनी गाडी में बैठा लिया और उसे दुर्गागंज के पास कोल ड्रिक - जबरजस्ती पिलाया। इसके बाद में बेसुध हो गई। इसके बाद मेरे साथ घंटों बलात्कार किया। प्रार्थिनी खुद को उनसे दिया बच्चा पाई।

 शराब के नशे में धुत सुधीर पांडेय रेप करने के बाद जब वापस प्रयागराज लौट रहे तो तभी गौरा थाना दुर्गागंज जनपद भदोही के पास कार आम के पेड़ से टकारकर क्षतिग्रस्त हो गई।  घटना को छिपाने के लिए सुधीर पांडेय ने अर्जुन, सभाजीत पुत्रगण राजपति व सन्तोष पांडेय पुत्र शमभूनाथ से जान से मारने की धमकी दी। प्रार्थिनी ने डर और सदमे के कारण घर से नही निकल रही थी। बीते मंगलवार को पीड़िता ने थाने मे तहरीर देकर मुकदमा दर्ज कराया है।

Ballia Tak on WhatsApp

Comments

Post A Comment