छात्रा को लातघूंसों से पीटने वाले प्रधानाध्यापक को बीएसए ने किया सस्पेंड

On

प्रतापगढ़ : परिषदीय स्कूल में छात्रा के झाड़ू लगाने की खबर सोशल मीडिया पर वायरल होने से नाराज प्रधानाध्यापक ने छात्रा को कमरे में बंद कर लात-घूंसों से पीटा। सिर और सीने पर चोट लगने से कुछ देर बाद छात्रा की तबीयत बिगड़ गयी। साथ की छात्राओं ने उसे पानी पिलाया और परिजनों को सूचना दी। परिजन एम्बुलेंस बुलाकर उसे सीएचसी ले गए। उधर, मामले में बीएसए ने प्रधानाध्यापक को निलंबित कर दिया है।

विकास खंड बिहार के उच्च प्राथमिक विद्यालय मंडल भासों में शुक्रवार सुबह करीब नौ बजे कक्षा सात की एक छात्रा झाड़ू लगा रही थी। विद्यालय में सिर्फ एक शिक्षामित्र मौजूद थे जबकि प्रधानाध्यापक समेत अन्य शिक्षक अनुपस्थित थे। छात्रा की झाड़ू लगाती फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो गयी। आरोप है कि इससे नाराज प्रधानाध्यापक पारसनाथ वरुण ने शनिवार सुबह विद्यालय पहुंचते ही छात्रा को कमरे में बंद कर उसे लात घूंसों से पीट दिया। छात्रा ने बताया कि वह प्रधानाध्यापक से कान पकड़कर गलती मानती रही, लेकिन उन्हें तरस नहीं आया। 
 
कुछ देर बाद वह कमरे से कांपती हुई निकली तो अन्य छात्राओं ने पूछताछ की। इस पर रोते हुए उसने बताया कि सिर और सीने पर चोट लगने से उसे तेज दर्द हो रहा है। छात्राओं ने उसे पानी पिलाया और सूचना परिजनों को दी।पहुंचे परिजनों ने घटना पर नाराजगी जताई और एम्बुलेंस से सीएचसी बाघराय ले गए। इस बाबत प्रधानाध्यापक पारसनाथ वरुण का कहना है कि होमवर्क पूरा नहीं करने पर उन्होंने छात्रा को डांटा और एक थप्पड़ मारा। लात घूंसों से पीटने का आरोप गलत है। उधर, प्रथम दृष्टया प्रधानाध्यापक को दोषी पाए जाने पर बीएसए भूपेन्द्र सिंह ने निलंबित कर दिया है।
Ballia Tak on WhatsApp

Comments

Post A Comment