पीलीभीत: डकैती-चोरियां लंबित, पुराने अपराधी रडार पर..अब मुठभेड़ में हिस्ट्रीशीटर को लगी गोली

On

पीलीभीत: पखवाड़ा भर के भीतर हुई पूरनपुर में 40 लाख की डकैती, पुलिस पिकेट प्वाइंट के नजदीक शहर की तीन दुकानों में नकब लगाकर चोरी की वारदातों का खुलासा करने में पुलिस की असफलता बरकरार है। इतना जरुर पुराने अपराधी जरुर रडार पर आ गए हैं। नतीजतन 45 घंटे के भीतर पुलिस की बदमाशों से दूसरी मुठभेड़ हो गई।

अमरिया पुलिस टीम ने दियूनी डैम रोड से शातिर हिस्ट्रीशीटर को उसके साथियों संग मुठभेड़ के बाद धर दबोचा। हिस्ट्रीशीटर के पैर में गोली भी लगी है। क्षेत्र से चोरी किए गए चार इंजन भी बरामदगी का दावा कर गुडवर्क गिनाया गया। चालान कर पकड़े गए चारों आरोपियों को कोर्ट में पेश करके जेल भेज दिया है।

यह भी पढ़े - लघु उद्योग विकास परिषद द्वारा संचालित उज्ज्वला शिक्षा मिशन एवं औद्योगिक प्रशिक्षण महिला विकास योजना का हुआ उद्घाटन

बता दें कि 30 जनवरी की रात पूरनपुर के किराना व्यापारी के सुनील गुप्ता के परिवार को बंधक बनाकर 40 लाख की डकैती की घटना हुई। इस वादात ने पुलिस अधिकारियों के सामने चुनौती खड़ी कर दी है। इधर, पहले शहर की गल्ला मंडी में एक ही रात में दो दुकानों में नकब लगाकर चोरी हुई और फिर पांच फरवरी की रात मुख्य बाजार में बल्लभनगर कॉलोनी निवासी कपिल वर्मा की मोबाइल शॉप में छत के रास्ते नकब लगाकर चोर 15 लाख कीमत के मोबाइल चोरी कर ले गए। इन घटना के बाद व्यापारी वर्ग लामबंद हो गया और  जल्द खुलासा न होने पर आंदोलन की चेतावनी दे चुका है। 

अल्टीमेटम में दिया समय पूरा होने को हैं, लेकिन खुलासे के आसपास तक पुलिस नहीं पहुंच सकी है। इसी बीच छह फरवरी की रात पूरनपुर पुलिस ने चार शातिर अपराधियों को मुठभेड़ के बाद दबोचा था। जिसमें एक के पैर में गोली लगी थी। पुलिस का दावा था कि चारों लूट की योजना बना रहे थे। इधर, अब अमरिया पुलिस की गुरुवार रात करीब सवा 11 बजे गश्त के दौरान बदमाशों से मुठभेड़ हो गई।पुलिस के अनुसार एसओ अमरिया ब्रजवीर सिंह पुलिस बल के साथ चेकिंग कर रहे थे। दियूनी डैम मार्ग पर नसीम नगर गांव के पास पहुंचते ही पुलिस को दो बाइकों पर सवार चार लोग आते दिखाई दिए। दोनों बाइकों के बीच रस्सी से पंपिंग सेट इंजन बांघ रखा था। 

पुलिस ने शक होने पर रुकने का इशारा किया लेकिन आरोप है कि बाइक सवार भागने लगे।पुलिस पर तमंचे से फायर भी कर दिया। हालांकि इसमें कोई पुलिसकर्मी घायल नहीं हुआ। जवाबी कार्रवाई करते हुए पुलिस ने भी गोली चलाई, जोकि एक बदमाश को जा लगी। इसके बाद घेराबंदी कर घायल कस्बा अमरिया के मोहल्ला हाजीपुरा निवासी हिस्ट्रीशीटर शेरा पुत्र शहजादे,  ग्राम अंटा गौटिया निवासी हरीश उर्फ भूरा पुत्र नंदराम, संतोष पुत्र राधेश्याम और सिरसा गांव निवासी मोहम्मद रफीक पुत्र मोहम्मद उमर को धर पकड़ लिया। 

उनके पास से दो तमंचे, तीन कारतूस, एक खोखा, बाइक और एक इंजन पंपसेट बरामद हुआ।  उन्हें हिरासत में लेकर पुलिस थाने आ गई। घायल हिस्ट्रीशीटर शेरा का रात में ही जिला अस्पताल में इलाज कराया गया। आरोपियों से पूछताछ के बाद चोरी किए गए तीन अन्य इंजन पंपसेट भी बरामद कर लिए गए। शुक्रवार दोपहर को अमरिया थाना में प्रेसवार्ता कर पुलिस ने की गई कार्रवाई को बताया और पकड़े गए आरोपियों पर सख्त कार्रवाई की बात कही।

हिस्ट्रीशीटर शेरा पर लूट, चोरी, गैंगस्टर एक्ट समेत 11 मुकदमे
बताते हैं कि पुलिस मुठभेड़ में गोली लगने से घायल हुआ हिस्ट्रीशीटर शेरा शातिर अपराधी है। वह गिरोह बनाकर लूट, चोरी की घटनाओं को अंजाम देता है। पुलिस की मानें तो उस पर अमरिया व जहानाबाद थाने में लूट, चोरी, जानलेवा हमला, एनडीपीएस एक्ट, आर्म्स एक्ट, गैंगस्टर एक्ट आदि के करीब 11 मुकदमे हैं।

अमरिया पुलिस ने मुठभेड़ के बाद हिस्ट्रीशीटर समेत चार अपराधियों की गिरफ्तारी की है। हिस्ट्रीशीटर ने पहले पुलिस टीम पर गोली चलाई। जवाबी कार्रवाई में एक गोली हिस्ट्रीशीटर के पैर में लगी। उसका जिला अस्पताल में इलाज कराया गया। आरोपियों के पास से चोरी किए गए चार इंजन पंपसेट भी बरामद हुए हैं। एफआईआर दर्ज कर कार्रवाई कराई गई है। -प्रतीक दहिया, सीओ सदर

Ballia Tak on WhatsApp

Comments

Post A Comment

Popular Posts