पीलीभीत के आठ लोगों की मौत का मामला: अंतिम यात्रा में उमड़े ग्रामीण, शव पहुंचते ही मचा कोहराम

On

पीलीभीत: एक दिन पूर्व वाराणसी में हुए सड़क हादसे में जान गंवाने वाले पीलीभीत के आठ लोगों के शव पोस्टमार्टम के बाद गांव पहुंचे तो कोहराम मच गया। मृतकों की अंतिम यात्रा में शामिल होने के लिए पूरा गांव उमड़ पड़ा। हर आंख हादसे को लेकर नम दिखाई दी। जनप्रतिनिधि और सत्ता -विपक्ष के नेता भी पहुंचे। गमगीन परिवारों को ढांढस बंधाया गया। देर शाम शवों का अंतिम संस्कार कर दिया गया।  मृतकों के परिजन का रोकर बुरा हाल रहा। उधर हादसे में घायल शांति स्वरुप का वाराणसी के ही अस्पताल में इलाज चल रहा है। उसके मामा देखरेख के लिए रुके हुए हैं। 

बता दें कि थाना माधोटांडा क्षेत्र के ग्राम रुदपुर के रहने वाले विपिन यादव (30) पुत्र स्वर्गीय सत्यपाल अपनी मां  गंगा देवी (50) और रिश्तेदार धरमंगदपुर गांव निवासी राजेंद्र यादव (50) के साथ कार में सवार होकर श्राद्ध पक्ष में एक अक्टूबर को पिता व चाचा मोहनलाल की अस्थियां विसर्जित करने के लिए गया (बिहार) गए थे। कई सालों से गांव में रह रहे मूल रुप से मुजफ्फरनगर गांव के निवासी महेंद्र वर्मा (45) पुत्र नारायनलाल, उनकी पत्नी चंद्रकली (42), भाई दामोदर (35), उसकी पत्नी निर्मला देवी (30), पांच वर्षीय पुत्र शांति स्वरुप भी साथ गए थे। वह अपने पिता नारायनलाल और मां मिढ़न्ना देवी की अस्थि विसर्जित करने गए  थे। पूरनपुर कोतवाली क्षेत्र के ग्राम पिपरिया दुलई निवासी अमन बतौर गाड़ी चलाकर ले गया था। बुधवार सुबह वापस आते वक्त वाराणसी में फूलपुर के करखियांव इलाके में कार ट्रक से टकरा गई और हादसे में मासूम शांति स्वरूप को छोड़ सभी आठ लोगों की जान चली गई थी। मृतकों के परिवार के कुछ सदस्य वाराणसी रवाना हो गए थे।दूसरे दिन गुरुवार को सुबह से शव आने का इंतजार चलता रहा। घरों पर रुके परिजन व रिश्तेदार अंतिम संस्कार को लेकर तैयारियां करते रहे। बड़ी संख्या में ग्रामीण ढांढस बंधाने को जुटे रहे। शाम करीब साढ़े पांच बजे सभी के शव अपने-अपने पैतृत गांवों में पहुंचे तो भीड़ के बीच मातम की चित्कार गूंजती रही। मुजफ्फरनगर गांव में एक साथ चार शव पहुंचे। दिन में ही तैयारियां कर ली गई थी। फिर शाम को गमगीन माहौल में शवों का अंतिम संस्कार कर दिया गया। भाजपा विधायक पूरनपुर बाबूराम पासवान, सपा नेत्री पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष आरती महेंद्र, सपा नेता राजकुमार उर्फ राजू, सपा के प्रदेश सचिव आनंद सिंह यादव भी पहुंचे और परिवारों से मुलाकात की।  मृतक विपिन को सात वर्षीय पुत्र रौनक, गंगा देवी को बेटे पवन, राजेंद्र यादव को बड़े बेटे विपिन, महेंद्र वर्मा, उनकी पत्नी चंद्रकली को अमित, दामोदार व निर्मला देवी को बेटे शिवम ने मुखाग्नि दी।

यह भी पढ़े - बलरामपुर: चक्रवाती तूफान में मकान के नीचे दबकर महिला की मौत, कई अन्य घायल

Ballia Tak on WhatsApp

Comments

Post A Comment