UP News: मऊ के डिग्री कॉलेज में तालिबानी गाने पर डांस का आरोप, हिंदू जागरण मंच ने की कार्रवाई की मांग

Hindu Jagran Manch in Mau: हिंदू जागरण मंच ने एक मदरसे में तालिबानी गाने पर नृत्य करने आरोप लगाते हुए, प्रशासन से कॉलेज की मान्यता रद्द करने और प्रबंधक और प्रिंसिपल पर कार्रवाई की मांग की है.

On

Mau News: पूरे देश में 77वां स्वतंत्रता दिवस (Independence Day) पूरे जोश खरोश से मनाया गया. वहीं हिंदू जागरण मंच (Hindu Jagran Manch) ने स्वतंत्रता दिवस के मौके पर मऊ (Mau) के एक मदरसे (Madarsa) में तालिबानी गाने पर मुस्लिम बच्चियों के द्वारा नृत्य करने का आरोप लगाया है. इसको लेकर हिंदू जागरण मंच के लोगों ने पुलिस (UP Police) में मामला दर्ज करवाया है और मामले में कार्रवाई की मांग की है. 

दरअसल, ये पूरा मामला उत्तर प्रदेश के मऊ जिले के पहाड़पुर स्थित तालीमुद्दीन निस्वां डिग्री कॉलेज का है. जहां स्वतंत्रता दिवस के मौके पर कॉलेज की छात्राओं पर तालिबानी गाने पर नृत्य पेश करने का आरोप लगा है. समुदाय विशेष की लड़कियों द्वारा तालिबानी गाने पर नृत्य किए जाने का आरोप लगाते हुए हिंदू जागरण मंच के कार्यकर्ताओं ने नाराजगी जताई है. इसको लेकर हिंदू जागरण मंच ने रविवार (27 अगस्त) को सीओ सिटी धनंजय मिश्रा से मिलकर उक्त विद्यालय के प्रबंधक और तालिबानी गाने पर नृत्य करने वाले सभी लोगों के ऊपर मुकदमा दर्ज करने की मांग की है.

यह भी पढ़े - संदिग्ध परिस्थितियों में नवविवाहिता का लटका मिला शव

कॉलेज पर हिंदू जागरण मंच ने लगाये ये आरोप

हिंदू जागरण मंच के जिला अध्यक्ष अतुल राय ने बताया कि, 'जिले की शांति व्यवस्था और धार्मिक उन्माद फैलाने की नियत से मऊ नगर क्षेत्र के तालीमुद्दीन निस्वां डिग्री कॉलेज में तालिबानी गाने पर स्वतंत्रता दिवस पर नृत्य-संगीत का कार्यक्रम किया गया. इस नृत्य में हमारे हिंदू धर्म संस्कृति के बारे में अशोभनीय बातें की गई. साथ ही हिंदू धर्म के लोगों को हिजड़ा बताया गया.' उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि, 'इस देश में रहकर, इस देश का खाकर इस देश की बुराई करना धर्म विशेष के लोगों का पर्याय बन चुका है. ऐसा हम चलने नहीं देंगे.'

कॉलेज की मान्यता रद्द करने की हिंदू जागरण मंच ने की मांग

अतुल राय ने कार्रवाई की मांग करते हुए कहा कि, तालीमुद्दीन निस्वां डिग्री कॉलेज के प्रबंधक, प्रिंसिपल सहित इस सांस्कृतिक कार्यक्रम में सम्मिलित प्रतिभागियों के ऊपर भी मुकदमा दर्ज किया जाए. वहीं इस विद्यालय की मान्यता भी रद्द करने की हम लोग मांग कर रहे हैं. जिससे किसी के द्वारा जनपद में धार्मिक उन्माद फैलाने की कोशिश ना की जा सके. 

Ballia Tak on WhatsApp

Comments

Post A Comment