Padma Awards 2024: पद्म पुरस्कारों की घोषणा, लखनऊ SGPGI के निदेशक प्रोफेसर आरके धीमन को पद्मश्री सम्मान 

On

लखनऊ: गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर पद्म पुरस्कारों की घोषणा कर दी गई है। पद्म पुरस्कार देश के सबसे बड़े नागरिक सम्मानों में से एक है। यह तीन श्रेणियों में दिया जाता है। यह श्रेणियां पद्म विभूषण, पद्म भूषण और पद्मश्री हैं। इस बार पांच हस्तियों को पद्म विभूषण, 17 को पद्म भूषण और 110 हस्तियों को पद्मश्री सम्मान के लिए चुना गया है।

जिन 110 लोगों को पद्मश्री के लिए नामित किया गया है, उनमें उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ स्थित एसजीपीजीआई के निदेशक प्रोफेसर आरके धीमन का नाम भी शामिल है। प्रोफेसर आरके धीमन को यह सम्मान मेडिसिन के क्षेत्र में अहम योगदान के लिए दिया जाएगा।

यह भी पढ़े - बलिया में नहीं थम रहा इस्तीफे का सिलसिला, अब यहां के शिक्षक संकुलों ने दिया त्यागपत्र

प्रोफेसर आरके धीमन ने हेपेटाइटिस, विशेष कर हेपेटाइटिस सी के कंट्रोल के लिए विशेष काम किया है। उन्होंने हेपेटाइटिस को कंट्रोल करने के लिए अभियान भी चलाया है।

इतना ही नहीं प्रोफेसर आरके धीमन ने जब से एसजीपीजीआई की कमान अपने हाथों में ली है। तब से पीजीआई में कई अहम कार्य हुए हैं। उन्ही में से एक प्रदेश का पहले एडवांस्ड पीडियाट्रिक सेंटर की स्थापना का अहम निर्णय भी है। जिसकी मंजूरी उत्तर प्रदेश सरकार से मिल चुकी है।

यह सेंटर पीजीआई में स्थापित किया जाएगा। यह प्रदेश का पहला ऐसा सेंटर होगा, जहां बच्चों से जुड़ी सभी बीमारियों का इलाज अलग-अलग पीडियाट्रिक एक्सपर्ट करेंगे। यह सुविधा अभी तक प्रदेश के किसी भी इंस्टीट्यूट और मेडिकल कॉलेज में उपलब्ध नहीं है। इसके लिए योगी सरकार 199 करोड़ 10 लाख 52 हजार रुपये खर्च करेगी। पहले फेज में 12 विभाग और 4 यूनिट काम करेंगी। इनमें जनरल पीडियाट्रिक, पीडियाट्रिक एंकोलॉजी, पीडियाट्रिक इमरजेंसी, पीडियाट्रिक क्रिटिकल केयर, पीडियाट्रिक सर्जरी, पीडियाट्रिक गेस्ट्रोइंट्रोलॉजी, पीडियाट्रिक इंडोक्राइनोलॉजी आदि विभाग शामिल हैं जबकि यूनिट में पीडियाट्रिक पल्मोनोलॉजी, पीडियाट्रिक कार्डियोलॉजी, डे केयर और पीडियाट्रिक मेडिकल जेनेटिक शामिल हैं। वहीं पहले फेज में सबसे ज्यादा 60 बेड जनरल पीडियाट्रिक के होंगे। इसी तरह दूसरे फेज में अतिरिक्त 9 विभाग और 2 यूनिट काम करेंगी। इनमें पीडियाट्रिक नेफ्रोलॉजी, पीडियाट्रिक न्यूरोसर्जरी, पीडियाट्रिक यूरोलॉजी और पीडियाट्रिक ऑर्थोपेडिक एंड फिजीकल मेडिसिन आदि विभाग शामिल हैं जबकि यूनिट में सोशल पीडियाट्रिक्स और डेवलपमेंटल पीडियाट्रिक यूनिट शामिल हैं।

Ballia Tak on WhatsApp

Comments

Post A Comment

Popular Posts