Lucknow news: 24 घंटे के अंदर लखनऊ में दूसरी हत्या, सहमे लोग

On

Lucknow: राजधानी लखनऊ के गोमतीनगर में एक छात्र की चाकुओं से गोदकर हत्या कर दी गई। गोमतीनगर में चाकुओं से गोदकर छात्र की हत्या पार्टी में पैसे को लेकर दोस्त से हुआ विवाद

लखनऊ(आरएनएस) । राजधानी लखनऊ के गोमतीनगर में एक छात्र की चाकुओं से गोदकर हत्या कर दी गई। छात्र के गले, सिर और शरीर पर चाकू के निशान मिले है। वह दोस्तों के साथ पार्टी करने के लिए दोस्त के घर आया हुआ था। जहां पर सभी ने शराब की पार्टी की, इसके बाद पैसों को लेकर विवाद हो गया। मामला इनता बढ़ गया कि उसके एक साथी ने चाकूओं से उसे बुरी तरह गोदकर घायल कर दिया। रात में ही आनन-फानन में अस्पताल में भर्ती कराया। जहां उपचार के दौरान रविवार की सुबह उसकी मौत हो गई। पुलिस ने शव को कब्जे में लेने के बाद पोस्टमार्टम को भेज दिया है।

आकाश कश्यप 19 वर्ष सेंट फ्रांसिस में 12वीं का छात्र था। प्रभारी निरीक्षक दीपक कुमार पांडेय के अनुसार जगदीश कश्यप उर्फ मुन्ना पुत्र स्व. मैकूलाल निवासी जी-3 संजय गांधीपुरम थाना गाजीपुर लखनऊ ने थाना गोमतीनगर पर सूचना दिया कि 17 जून को समय करीब दस बजे रात्रि वादी का पुत्र आकाश अपने मित्र जय जायसवाल के साथ घर से निकला था। काफी देर रात्रि वादी के पुत्र के घर ना आने पर समय करीब एक बजे रात्रि को वादी की पत्नी ने आकाश को फोन किया तो उसने बताया कि अपने मित्र जय के साथ हूं, दस मिनट में आ रहा हूं और इसके बाद वादी व वादी की पत्नी सो गए। सुबह समय करीब पांच बजे वादी दुकान खोलने के लिए उठा तो वादी के पुत्र के दोस्त जय ने वादी को बताया कि वह लोग पार्टी करने अविनाश के घर रेलवे क्रासिंग बड़ी जुगौली गोमतीनगर गए थे। वहां अविनाश, प्रिंस, रिषभ भी मौजूद थे रिषभ ने अभय प्रताप सिंह से 1000 रुपए उधार लिए थे।

जिसको वापस करने को लेकर रिषभ व अभय प्रताप सिंह में फोन पर विवाद हुआ, अभय प्रताप सिंह गाली गलौज करते हुए जान से मारने की धमकी दे रहा था है। अभय प्रताप सिंह द्वारा वादी के पुत्र आकाश से भी फोन पर समय करीब 1.30 बजे रात्रि में बात करते हुए गाली गलौज की गई थी। 18 जून को समय करीब 3.00 बजे प्रात: अभय प्रताप सिंह अपने दोस्त देवांश के साथ जुगौली स्थित अविनाश के घर पहुंच गया और घर आते ही तेज धारदार चाकू से आकाश पर हमला कर दिए जब वादी का पुत्र आकाश गम्भीर रूप से घायल होकर बेहोश हो गया तो उसने जय को भी मारने की नियत दौड़ाया तब जय ने भागकर रेलवे के केबिन में छिपकर स्वयं को बचाया।

अभय प्रताप सिंह व देवांश के जाने के बाद जय ने अविनाश और रिषभ को फोन से वादी के पुत्र आकाश को अस्पताल में भर्ती कराने के लिए कहकर वादी को घटना की सूचना दिया। वादी सूचना मिलते ही अपनी पत्नी के साथ केजीएमयू आया तो देखा कि वादी के पुत्र की मृत्यु हो चुकी थी। वादी के पुत्र आकाश की हत्या अभय प्रताप सिंह व दोस्त देवांश सिंह उर्फ मनमोहन सिंह ने की है। पिता की तहरीर पर पुलिस ने अभय प्रताप सिंह, देवांश सिंह उर्फ मनमोहन सिंह के विरूद्ध अभियोग पंजीकृत कर आवश्यक कार्रवाई की जा रही है। एसीपी पूर्वी स्वाती चौधरी ने बताया कि मृतक छात्र के पिता की तहरीर पर दो के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। इनकी गिरफ्तारी के लिए टीम गठित कर दी गई है।

यह भी पढ़े - कठवारा गांव में किशोर ने लगाई फांसी,मौत

Ballia Tak on WhatsApp

Comments

Post A Comment