लखनऊ: लिफ्ट में अकेली फंसी मासूम बच्ची, कैमरे के आगे हाथ जोड़कर बचाने की लगाती रही गुहार, वीडियो हुआ वायरल

On

लखनऊ में एलडीए के जनेश्वर एनक्लेव अपार्टमेंट में एक मासूम बच्ची कुछ देर तक लिफ्ट में अकेली फंसी गई. बच्ची चिल्ला-चिल्ला कर मदद की गुहार लगा रही थी. इस घटना का वीडियो जब सीसीटीवी के जरिये फ्लैट में लाइव हुआ तो अपार्टमेंट के लोगों में हड़कंप मच गया. वीडियो में दिख रहा है कि बच्ची पहले शांत है, कुछ देर बाद घबराने लगी.

इसके बाद कूदने लगी. फिर चिल्ला रही थी कि मुझे बचाओ. कैमरे के आगे हाथ भी जोड़ रही थी. लेकिन मेंटेनेंस के कर्मचारी मौके पर नहीं पहुंचे. जब लिफ्ट में ऑटोमेटिक डिवाइस एक्टिवेट हुई तो लिफ्ट बेसमेंट पर पहुंची. इसके बाद डोर खुलने पर डरी-सहमी बच्ची बाहर निकल सकी.

यह भी पढ़े - आज फादर्स यानी बाबूजी के अपडेट वर्जन खातिर खास दिन ह

डरा देने वाला है वीडियो

दरअसल, स्कूल की यूनिफॉर्म पहने बच्ची ध्वनि अवस्थी दोपहर दो बजे भूतल से 11वें तल स्थित फ्लैट जा रही थी. आठवें तल तक पहुंची थी कि तभी अचानक बिजली फेल होने से लिफ्ट थम गई. लिफ्ट बंद होने से बच्ची डर गई और जोर-जोर से चिल्लाने लगी. मदद की गुहार लगाने लगी. हरे रंग की टी शर्ट पहने बच्ची लिफ्ट में 15 मिनट तक दरवाजे को खोलने की कोशिश करती है.

इस दौरान वह एक बार दरवाजा खोलने की कोशिश करती तो एक बार कैमरे में देखकर बचाने की गुहार लगाती. इसके बाद उसने भगवान से बचाने की गुहार लगाई. उसने हाथ जोड़कर कई बार कहा हे भगवान मुझे बचा लो. जब कुछ देर बाद ऑटोमेटिक डिवाइस एक्टिवेट हुई तो लिफ्ट सीधे बेसमेंट में जाकर खुली. तब जाकर बच्ची बाहर निकली. लेकिन सबसे बड़ी बात ये है कि बच्ची के चीखने-चिल्लाने की आवाज किसी ने नहीं सुनी.

लिफ्ट मेंटेनेंस कंपनी एवं बिजली व्यवस्था दोषी- अजय सिंह

वहीं, अपार्टमेंट में रहने वाले अजय सिंह ने बताया कि घटना दोपहर 2 बजे की है. 11फ्लोर बी 1105 फ्लैट नंबर में यह परिवार रेंट पर रहता है. बच्ची करीब 15 मिनट तक लिफ्ट में कूदती और चिल्लाती रही. फिलहाल, बच्ची अभी ठीक है. बच्ची के पिता आशीष अवस्थी कोचिंग में पढ़ाते हैं. अजय सिंह ने एलडीए की लिफ्ट मेंटेनेंस कंपनी एवं बिजली व्यवस्था के लिए जिम्मेदारी कंपनी के लोगों का दोषी ठहराया है. अजय का कहना कि लिफ्ट की डिवाइस एक्टिव होने के बाद निकट के फ्लोर का डोर खुलने के बजाय सीधे बेसमेंट पर खुलता है. जब लिफ्ट बेसमेंट में आई तब बच्ची को रेस्क्यू किया गया.

छोटे बच्चों को अकेले लिफ्ट में न जाने दें- एलडीए वीसी

वहीं, एलडीए वीसी डॉ. इंद्रमणि त्रिपाठी ने कहा कि जनेश्वर एनक्लेव में अचानक बिजली बाधित होने के कारण एक लिफ्ट में बच्ची फंस गई थी, जिसे तुरंत रेस्क्यू कर लिया गया. उन्होंने योजना के निवासियों से अनुरोध किया है कि 12 साल से छोटे बच्चों को लिफ्ट में सुरक्षा की दृष्टि से अकेले सफर न करने दें. लिफ्ट के मेंटेनेंस का काम अनुभवी फर्म को ही दिया गया है.

Ballia Tak on WhatsApp

Comments

Post A Comment