यूपी बेसिक शिक्षा परिषद से बर्खास्त होंगे 400 शिक्षक, 700 रडार पर, अभिलेखों का हो रहा गोपनीय सत्यापन

बलिया का भी नाम शामिल है इस लिस्ट में

On

लखनऊ। बेसिक शिक्षा परिषद की ओर से संचालित प्राइमरी और जूनियर विद्यालयों में तैनात 400 फर्जी शिक्षकों को बर्खास्त करने की तैयारी चल रही है। इसके अलावा 700 से अधिक ऐसे बेसिक शिक्षक है जिनके अभिलेखों का परीक्षण कराया जा रहा है। इसमें करीब 128 शिक्षक हैं जिनके अभिलेखों को परीक्षण यूपी एसटीएफ अपने स्तर से करवा रही है। 

यूपी एसटीएफ ने बेसिक शिक्षा अधिकारियों को भेजा पत्र

इस संबंध में यूपी एसटीएफ ने 51 जिलों के बेसिक शिक्षा अधिकारियों को पत्र भेजकर फर्जी शिक्षकों के बारे में अवगत कराया है। एसटीएफ अभी 400 शिक्षकों का ब्योरा भेजा है। पूर्व में एसटीएफी की ओर से इन शिक्षकों की जांच की जा रही थी। विभाग की ओर से इन शिक्षकों को बर्खास्त किया जायेगा। 

अरबों का बजट डकार गये फर्जी शिक्षक

प्रदेश में अलग-अलग जनपदों में तैनात फर्जी शिक्षक नियुक्ति तिथि से लेकर अभी तक अरबों का बजट डकार गये हैं। अभी तक 2300 शिक्षकों पर एक्शन हो चुका है। लेकिन इन शिक्षकों की ओर से लिये गये वेतन की रिकवरी आसान नहीं है। विभाग के अधिकारी ही बताते हैं कि ऐसे शिक्षकों से वेतन रिकवरी करना मुश्किल हैं। 

देवरिया 85 शिक्षकों पर एफआईआर

वहीं अभी हाल हाल ही में देवरिया जिले के प्रथमिक विद्यालय में तैनात 85 शिक्षकों को बर्खास्त किया गया था और सभी के ऊपर एफआईआर भी दर्ज हुई है। इसकी जांच बेसिक शिक्षा विभाग और एसटीएफ ने मिलकर की थी। जिसमें फर्जी प्रमाण पत्रों के सहारे 85 से अधिक शिक्षकों ने नौकरी हासिल कर ली थी। लंबी जांच पड़ताल के दौरान 85 फर्जी शिक्षकों पर कार्रवाई हुई है और कई टीचरों पर अभी भी तलवार लटकी है।

यह भी पढ़े - Bangladesh Fire : राजधानी के रेस्टोरेंट में आग लगने से 43 लोगों की मौत, दर्जनों घायल

सभी नियुक्तियां और सपा और बसपा शासन काल में 

एसटीएफ को जांच में पता चला है कि जो भी भर्तियां हैं वह सपा और बसपा शासन काल की है। इसमें 2006 से 2016 के बीच भर्ती हुए शिक्षक शामिल हैं। इन शिक्षकों ने जाली अभिलेखों के आधार पर नौकरी हासिल की थी। इसमें कहीं न कहीं विभाग के अधिकारियों की भूमिका है। 

इन जिलों में तैनात हैं फर्जी शिक्षक

जिन जिलों में फर्जी शिक्षक तैनात हैं उनमें सिद्धार्थनगर, आगरा, रायबरेली, देवरिया, मथुरा, बलिया, संत कबीरनगर, प्रतापगढ़, जौनपुर, गोरखपुर, कुशीनगर, महराजगंज, सुल्तानपुर, बस्ती, हमीरपुर, उन्नाव, गोंडा, बलरामपुर, आगरा, अलीगढ़, एटा, प्रयागराज, कौशांबी, मुरादाबाद, लखनऊ, रायबरेली, अंबेडकरनगर, सोनभद्र, गाजीपुर, बदायूं व ललितपुर शामिल हैं। 

जल्द सार्वजनिक होगी 700 शिक्षकों सूची

वहीं जिन 700 शिक्षकों के अभिलेखों के अभी सत्यापन चल रहा है उन शिक्षकों का भी ब्योरा भी सार्वजनिक किया जायेगा। अधिकारियों के मुताबिक अलग-अलग शिक्षण संस्थानों में सत्यापन के लिए भेजा गया है। सत्यापन रिपोर्ट मिलते ही आगे की कार्रवाई शुरू होगी। 

कोट.......
हमारी ओर से जांच में जिन शिक्षकों का नाम फर्जीवाड़े में आया है उनके नामों की सूची बेसिक शिक्षा विभाग को सौंपी गई है। अब आगे की कार्रवाई विभाग की जिम्मेदारी हैं। वेतन भी रिकवरी की भी जिम्मेदारी विभाग की है। 
अमिताभ यश एडीजी यूपी एसटीएफ
Ballia Tak on WhatsApp

Comments

Post A Comment

ताजा समाचार

महिला मोर्चा की प्रवक्ता ने नारी शक्ति वन्दन के तहत काव्य सम्मेलन का किया आयोजन महिला मोर्चा की प्रवक्ता ने नारी शक्ति वन्दन के तहत काव्य सम्मेलन का किया आयोजन
प्रतापगढ़। भारतीय जानता पार्टी महिला मोर्चा से चलाए जा रहे अभियान काव्य सम्मेलन एवं पत्रकार सम्मेलन का आयोजन के तहत...
छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मंडल 12वीं बोर्ड की परीक्षा आज से शुरू
जिले में दोहरे हत्याकांड का आरोपी गिरफ्तार
Firozabad News: पुलिस पर हमले के दो आरोपी मुठभेड़ में गिरफ्तार
Yogi Cabinet Expansion: 24 घंटे में हो सकता योगी कैबिनेट का विस्तार, देखिए संभावित मंत्रियों की लिस्ट
एंटी करप्शन टीम ने खंड शिक्षा अधिकारी को रिश्वत लेते किया गिरफ्तार, टीम बिधूना कोतवाली ले गई, देखें- VIDEO
स्कूल बस में लगी आग, दो दर्जन बच्चे थे सवार, कूदकर बचाई जान