लखीमपुर-खीरी: दो कार और एक एंबुलेंस से आ रहे रेल हादसे के यात्री, जिले के अनुसार दी गई सुविधा

On

लखीमपुर-खीरी। तमिलनाडु के मदुरै रेलवे स्टेशन पर हुए भीषण हादसे में ट्रेन की बोगी से सुरक्षित बाहर निकाले गए छह यात्रियों को दो कार और एक एंबुलेंस से लखीमपुर खीरी भेजा गया है। इसमें सभी यात्रियों के लिए जिले के अनुसार सुविधा दी गई है। लखीमपुर खीरी जिले से 16 श्रद्धालु रामेश्वर तीर्थ यात्रा पर जा रहे थे। 17 अगस्त को सभी यात्री सीतापुर से निजी बोगी से यात्रा कर रहे थे। ट्रेन में सीतापुर, हरदोई, लखनऊ आदि जगहों के भी तीर्थ यात्री भी सवार थे। शनिवार को तमिलनाडु के मदुरै रेलवे स्टेशन के निकट बोगी में सिलिंडर लीक होने से भीषण आग लग गई थी।

इस हादसे में लखीमपुर शहर के मोहल्ला हाथईपुर उत्तरी निवासी शांती देवी (70) की जिंदा जलकर मौत हो गई थी, जबकि उनके पति रामनोहर वर्मा और नाती हर्ष वर्मा घायल हो गया था। लखीमपुर खीरी के अन्य यात्री किसी तरह से बच निकले थे। कुछ को मामूली चोटें आईं थीं।  शहर के मोहल्ला हाथीपुर निवासी  राम मनोहर वर्मा ने बताया कि मदुरै से दो कार और एक एंबुलेंस लखीमपुर के लिए रवाना की गई है, जिसमें एक कार में उनके साथ सुशील गुप्ता,सावित्री गुप्ता,ज्योति गुप्ता भी सवार हैं।

यह भी पढ़े - कांग्रेसी नेताओं ने मान्धाता बाज़ार में निकाली मतदाता धन्यवाद यात्रा

दूसरी कार में अजय नरायन वर्मा और कमलादेवी को भेजा गया है। इसके साथ ही एंबुलेस भी भेजी गयी है। उधर हादसे से बचकर निकले परिजनों के वापस आने की खबर पाकर परिवार के लोग टकटकी लगाए हुए हैं। वह लगातार अपने परिजनों से संपर्क कर रहे हैं। ये भी पढ़ें- लखीमपुर-खीरी: डग्गामार बस अनियंत्रित होकर खाई में घुसी, बाल-बाल बचे यात्री  

Ballia Tak on WhatsApp

Comments

Post A Comment