Lakhimpur Kheri News: विवादित जमीन पर आंबेडकर प्रतिमा रखने पर दो पक्ष भिड़े, दोनों पक्ष अपनी बातों पर अड़े।

On

लखीमपुर खीरी: थाना खमरिया के ऊंचगांव में विवादित जमीन पर आंबेडकर और भगवान बुद्ध की प्रतिमा रखने पर दो पक्षों में विवाद हो गया। लोगों की भीड़ मौके पर जुट गई। सूचना पर पहुंची स्थानीय पुलिस ने पहले लोगों को समझाने की कोशिश की, लेकिन दोनों पक्ष अपनी बातों पर अड़ गए। डीएम और एसपी ने मौके पर पहुंचकर दोनों पक्षों से बात की और उन्हें समझाया बुझाकर शांत कराया। प्रशासन ने प्रतिमा को हटवा दिया है। गांव में एहतियातन पीएसी तैनात की गई है। 

गांव ऊंचगांव में हरिजन आबादी की भूमि पड़ी हुई है। जिस पर मंगलवार की रात में कुछ लोगों ने इस भूमि पर आंबेडकर और भगवान बुद्ध की प्रतिमा रख दी। इसकी जानकारी जब बुधवार को गांव के अन्य लोगों को हुई तो उनमें आक्रोश फैल गया। सैकड़ों की संख्या में लोग मौके पर पहुंच गए। इससे दोनों पक्षों आमने सामने आ गए और उनमें तीखी झड़प होने लगी। 

यह भी पढ़े - हर घर में नल से पानी पहुंचाने की मुहिम को यूपी ने शानदार तरीके से दिया अंजाम

बवाल की सूचना पर खमरिया पुलिस भी मौके पर पहुंची। पुलिस ने दोनों पक्षों से बातचीत की, लेकिन वह अपनी अपनी बात पर अड़ गए। ऊंचगांव के चमारन पुरवा निवासी रामचंद्र गौतम, मिश्रीलाल, शंभू,सोहन, सुंदर, श्यामलाल आदि का कहना था 4.11बीघा जमीन हरिजन आबादी की है। उस जमीन पर बाबा साहेब अम्बेडकर के नाम सोसायटी में दर्ज है। 

इसलिए बाबा साहेब की मूर्ति रखें है। वहीं दूसरे पक्ष के ऊंचगांव निवासी पूर्व प्रधान पृथ्वी पाल वर्मा, विपिन वर्मा, जगदीश वर्मा, राकेश वर्मा, रिंकू वर्मा, बृजेश वर्मा, पप्पू वर्मा का कहना था कि कथित जमीन नवीन परती की है। गड़बड़ी करके हरिजन आबादी में दर्ज कराई गई है। कथित भूमि का एडीएम के न्यायालय में पट्टा निरस्त्रीकरण का मुकदमा चल रहा है। यहां दशकों से होली भी जलती है और मेला भी लगता है। 

आरोप है कि चमारन पुरवा के रामचंद्र और मिश्री लाल आदि जबरन आंबेडकर और बुद्ध भगवान की मूर्ति रात में रखी है। पुलिस ने मौके की नजाकत को भांपकर उच्चाधिकारियों को पूरे मामले की जानकारी दी। इस पर प्रशासन हरकत में आ गया। धौरहरा, ईसानगर सहित कई थानों की फोर्स मौके पर भेज दी गई। पीएसी के साथ ही डीएम महेंद्र कुमार सिंह और एसपी गणेश प्रसाद साहा मौके पर पहुंच गए। 

दोनों पक्षों से वार्ता की। डीएम व एसपी ने दोनों पक्षों की सहमति से मामला शांत कराया। वार्ता के दौरान एक पक्ष इस बात पर राजी हो गया कि विधिक प्रक्रिया के तहत अनुमति कराने के बाद मूर्ति स्थापित की जाएगी। इस पर सहमति बनने पर विवादित जमीन में रखी गई मूर्ति को अन्यत्र सुरक्षित स्थान पर रखवा दिया गया। एहितियातन गांव में पुलिस और पीएसी को तैनात किया है। पुलिस हर गतिविधियों पर नजर रख रही है। 

आंबेडकर और बुद्ध की प्रतिमा रखने को लेकर दो पक्षों में विवाद हो गया था। डीएम और एसपी ने वार्ता करने के बाद मामले को शांत करा दिया है। फिलहाल मूर्तियों को विवादित जमीन से हटवाकर अन्यत्र रखवा दिया गया है। हालात पूरी तरह से सामान्य है---पीपी सिंह, सीओ- धौरहरा।

विवादित जमीन पर प्रतिमाएं रखने को लेकर विवाद हुआ था, लेकिन अब सबकुछ शांत हो गया है। मूर्तियों को हटवा दिया गया है और पूरे मामले की जांच की जा रही है---गणेश प्रसाद साहा, एसपी।
3
ऊंचगांव में विवादित भूमि पर मूर्तियां रखने पर विवाद की जानकारी लगी थी। तहसील प्रशासन ने तत्काल मौके पर पहुंचकर स्थिति संभाल ली थी। सूचना पर जाकर दोनों पक्षों को समझाबुझाकर शांत कर दिया गया है। मामले की जांच कराई जा रही है। कोई दोषी पाया जाएगा तो कार्रवाई की जाएगी---महेंद्र कुमार सिंह, डीएम।

Ballia Tak on WhatsApp

Comments

Post A Comment

Popular Posts