UP: पार्षद पति अंकित शुक्ला के घर पहुंची रायपुरवा पुलिस, मां देखकर हो गई बेहोश, होश आने पर ये बोली

कानपुर में दवा व्यापारी से मारपीट के मामले में रायपुरवा पुलिस ने पार्षद पति अंकित शुक्ला के घर दबिश दी।

On

कानपुर में दवा व्यापारी से मारपीट के मामले में रायपुरवा पुलिस ने पार्षद पति अंकित शुक्ला के घर दबिश दी। पुलिस को देखते ही मां बेहोश हो गई। होश आने पर बोली बेटे-बहू को बख्श दिया जाएं। वह निर्दोष है।

कानपुर। रायपुरवा थानाक्षेत्र में ओवरटेक करने के विवाद में हुई मारपीट में गंभीर रूप से घायल दवा कारोबारी अमोल दीप सिंह भाटिया के मामले में आरोपी भाजपा पार्षद पति अंकित शुक्ला व समर्थकों पर 25-25 हजार का इनाम घोषित होने के बाद भाजपाइयों में खासी नाराजगी और आक्रोश व्याप्त है।

इस गंभीर प्रकरण में मेडिकोलीगल रिपोर्ट आने के बाद पुलिस एक्शन में आ गई है। पुलिस ने आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए ताबड़तोड़ दबिशें डालना शुरू कर दिया है। पुलिस कमिश्नर डॉ आर के स्वर्णकार ने भाजपा, सिख समुदाय या फिर अन्य राजनैतिक पार्टियों पर धरना प्रदर्शन या विरोध प्रदर्शन करने पर रोक लगा दी है।

यह भी पढ़े - सीएम योगी में लगाया आर्थिक मदद व संवेदना का मरहम

गुरुवार को जैसे ही रायपुरवा पुलिस की एक टीम अंकित शुक्ला के घर पहुंची तो उनकी मां बेहोश हो गईं। जिसके बाद परिजन उनके चेहरे पर पानी डालकर होश में लाए। उन्होंने होश में आने के बाद पुलिस से कहा कि बेटे बहू ने कुछ नहीं किया है उन्हें बख्श दिया जाए। 

माहौल बिगड़ने के डर से पुलिस की अपील

भाजपा पार्षद पति के सिख कारोबारी को बेरहमी से पीटने का मामला प्रदेश तक पहुंच गया है। इसको लेकर एलआईयू की रिपोर्ट में कानपुर में माहौल बिगड़ने का डर है। इसे देखते हुए पुलिस कमिश्नर डॉ आर के स्वर्णकार ने किसी भी तरह का धरना प्रदर्शन या विरोध प्रदर्शन करने पर रोक लगा दी है। पुलिस कमिश्नर का कहना है कि पुलिस पारदर्शिता के साथ काम कर रही है। 

लखनऊ के सिख-समाज ने ज्ञापन सौंपा

दवा व्यापारी अमोलदीप सिंह भाटिया की पिटाई मामले में लखनऊ से आए सिख ही हमारी पहचान फाउंडेशन के सदस्यों ने पुलिस कमिश्नर ऑफिस में ज्ञापन सौंपा और मांग की कि आरोपियों की गिरफ्तारी जल्द की जाए साथ ही एफआईआर में 307 आईपीसी की धारा बढ़ाई जाए। संस्था के लोग पीड़ित परिवार से भी मिले।

रायपुरवा प्रकरण में हटाए गए थानेदार, अंकिता वर्मा को नई तैनाती

रायपुरवा थानाक्षेत्र में ओवरटेक करने को लेकर भाजपा पार्षद सौम्या शुक्ला के पति अंकित शुक्ला के द्वारा समर्थकों के साथ मिलकर दवा कारोबारी अमोल दीप सिंह भाटिया को पीट पीट कर अधमरा करने के मामला में लापरवाही बरतने पर गुरुवार देर रात रायपुरवा थानेदार अमान सिंह को पुलिस कमिश्नर डॉ आर के स्वर्णकार को हटा दिया गया।

उनके स्थान पर पुलिस कमिश्नर ने नई तैनाती प्रभारी परिवार परामर्श केंद्र में तैनात रहीं अंकिता वर्मा को दिया है। साथ ही अपराध शाखा से अखिलेश कुमार को अतिरिक्त प्रभारी निरीक्षक का दायित्व दिया है। इस मामले में रायपुरवा थानेदार की घोर लापरवाही देखने को मिली थी।

पीड़ित पक्ष शुरू से इसको लेकर पुलिस पर कार्रवाई न करने का आरोप लगा रहा था। जिसके बाद पुलिस कमिश्नर मामले की जांच करा रहे थे। घटना वाली रात के थाने में लगे अभी सीसीटीवी के फुटेच की जांच की गई। जिसमे रायपुरवा थानेदार की भूमिका संदिग्ध निकली। जिस पर कार्रवाई की गई।

Ballia Tak on WhatsApp

Comments

Post A Comment