इश्क में शिक्षक पति का मर्डर, इस सबूत से प्रेमी संग पकड़ी गई कातिल पिंकी

On

UP News : कानपुर में हुए टीचर राजेश गौतम हत्याकांड की गुत्थी सुलझ गई है। राजेश का एक्सीडेंट नहीं, बल्कि मर्डर हुआ था। पुलिस ने इस वारदात में शामिल टीचर की पत्नी उर्मिला उर्फ पिंकी तथा उसके प्रेमी शैलेंद्र सोनकर समेत तीन लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। पिंकी अपने प्रेमी शैलेंद्र के साथ मिलकर पति की हत्या करने के लिए सुपारी दी थी। इस हत्या को हादसा दिखाने के लिए राजेश को कार से कुचला गया था। पुलिस की गिरफ्त में आए हत्यारोपी शैलेंद्र और उसके साथी ने बताया कि कार से कुचलने के बाद पिंकी से फोन पर क्या बात हुई थी।

बता दें कि 4 नवंबर को चकेरी के कोयलानगर निवासी टीचर राजेश गौतम (41) की कार से कुचलकर मौत हो गई थी। उस वक्त राजेश मॉर्निंग वॉक पर निकले थे। पुलिस शुरू में इसे हादसा मानकर चल रही थी, लेकिन राजेश के भाई ने हत्या की आशंका जाहिर करते हुए पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी। शिकायत मिलते ही पुलिस हरकत में आई तो सबसे पहले उसके हाथ एक सीसीटीवी फुटेज लगा। इसमें टक्कर मारने वाली कार पहले से खड़ी दिख रही है। जैसे ही राजेश वॉक पर आए तो कार चल पड़ी और उन्हें कुचल दिया। इससे साफ हो गया कि घटना सामान्य नहीं है।
 
इसके बाद पुलिस ने हत्या की धाराओं के तहत केस दर्ज कर जांच शुरू की। राजेश की पत्नी से भी पूछताछ की। पुलिस ने जब राजेश की पत्नी पिंकी की कॉल डिटेल निकलवाई तो पता चला कि उसने घटना वाले दिन जिस नंबर पर बात की थी, वो शैलेंद्र सोनकर के नाम से है। पुलिस ने शैलेंद्र और पिंकी दोनों से पूछताछ की तो पूरी वारदात से पर्दा उठ गया। पुलिस ने पिंकी, शैलेंद्र और शैलेंद्र के चचेरे भाई विकास को गिरफ्तार कर लिया है।
 
शैलेंद्र सोनकर ने पुलिस के सामने मीडिया को बताया कि 2001 में मैंने राजेश गौतम का घर बनाया था। उसी दौरान उनकी पत्नी पिंकी से जान-पहचान हुई थी। बकौल शैलेंद्र, राजेश भैया उसे (पिंकी) मारते-पीटते थे। मेरा बकाया पैसा भी नहीं दे रहे थे, लेकिन भाभी (पिंकी) मेरी हेल्प करती थी। काम के दौरान उनसे अटैचमेंट हो गया। वो राजेश से तलाक लेना चाहती थी, लेकिन घरवाले इजाजत नहीं दे रहे थे। फिर उन्हीं (पिंकी) की तरफ से हत्या की प्लानिंग की शुरुआत हुई, मगर मैं काफी दिन से टाल रहा था।
 
हत्या की प्लानिंग के बारे में शैलेंद्र ने बताया कि एक ड्राइवर ढाई लाख रुपये में हायर किया था। कार से राजेश को कुचलने का प्लान था। हत्या के बाद घबरा कर पिंकी को फोन किया था। पूरी बात बताई कि ऐसे-ऐसे हो गया है। ज्यादा देर बात नहीं हुई। इसपर पिंकी ने बस इतना कहा, एक्सीडेंट हो गया क्या... ठीक है, जैसे भी करना है करो।
 
वहीं, इस हत्याकांड में शैलेंद्र के साथी विकास सोनकर ने कहा कि मेरा काम सिर्फ कार चालक को राजेश की पहचान करवाना था। मगर टक्कर मारने के बाद कार का टायर फट गया तो मैंने शैलेंद्र को अपनी गाड़ी में बैठा लिया। विकास के मुताबिक, उसे हत्या के बाद बड़ा बिजनेस शुरू करने और कंपनी में पार्टनर बनाने का लालच दिया गया था।
 
बताया जा रहा है कि मृतक टीचर राजेश गौतम की पत्नी पिंकी ने बीएड कर रखा है। राजमिस्त्री शैलेंद्र से पिंकी का अफेयर शुरू हो गया था। दोनों के बीच अवैध संबंध भी बन गए। इस बारे में जब राजेश को पता चला तो उन्होंने शैलेंद्र के घर आने पर रोक लगा दी। इसके बाद राजेश और पिंकी के बीच अक्सर विवाद होने लगा। पिंकी शैलेंद्र सोनकर के साथ रहना चाहती थी, जबकि वह शादीशुदा जिंदगी में थी और उसके दो बच्चे भी हैं। ऐसे में पिंकी ने प्रेमी शैलेंद्र के साथ मिलकर पति की हत्या का प्लान बनाया। वह चाहती थी कि उसके पति राजेश के नाम तीन करोड़ के बीमा का क्लेम भी उसे मिल जाए और 45 करोड़ की जायदाद की मालकिन भी बन जाए, मगर, वो पकड़ी गई।
Ballia Tak on WhatsApp

Comments

Post A Comment