Kanpur Farmer Suicide Case: किसान की बेटियां गले में फंदा डाल सड़क पर उतरेंगी, आरोपी भाजपा नेता पुलिस गिरफ्त से दूर

कानपुर में किसान की मौत से आहत बेटियां गले में फंदा डाल सड़क पर उतरेंगी।

On

कानपुर में किसान की मौत से आहत बेटियां गले में फंदा डाल सड़क पर उतरेंगी। 18 दिन बीतने के बाद भी नहीं हुई आरोपी भाजपा नेता की गिरफ्तारी नहीं हो सकी।

कानपुर: चकेरी में करोड़ों की जमीन धोखाधड़ी से हड़पने से आहत किसान बाबू सिंह यादव की आत्महत्या के 18 दिन बीतने के बाद भी फरार इनामिया डॉ प्रियरंजन अंशु दिवाकर समेत चार अन्य की गिरफ्तारी नहीं हुई है। पत्नी बिटान व बेटी काजल व रूबी ने आक्रोश जताते हुए कहा कि वे लोग कल से सड़क पर उतरकर सरकार से न्याय मांगेगी।  गले में फांसी का फंदा डालकर सरकार से न्याय मांगेंगी।

न्याय संघर्ष समिति के संयोजक अभिमन्यु गुप्ता व सपा नेता फतेह बहादुर गिल के साथ दिवंगत किसान बाबू सिंह यादव के परिजनों ने मुख्य आरोपी भाजपा नेता प्रियरंजन अंशु दिवाकर, शिवम चौहान समेत अन्य की गिरफ्तारी न होने पर आक्रोश जताते हुए कल से विरोध में सड़क पर उतर कर संविधान के तहत अपना विरोध दर्ज कराने की घोषणा की।

यह भी पढ़े - Firozabad : बंदी की मौत पर भड़के परिजन, पथराव के साथ की आगजनी

बेटियों की सुरक्षा के प्रति भी अभिमन्यु और फतेह बहादुर ने चिंता जताई। बेटी रूबी और काजल ने कहा की उन लोगों ने 18 दिन इंतजार कर लिया। न ही अभी तक गिरफ्तारी हुई और न ही प्रियरंजन के घर की कुर्की हुई। मुख्यमंत्री चाहते तो अब तक फरार अपराधी के यहां बुलडोजर चल जाता। बेटी काजल ने कहा कि भाजपा नेता व अन्य गिरफ्तारी न होना साबित करता है की इनको सरकार का संरक्षण प्राप्त है। जमीन वापसी के मामले में भी अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हुई।

अभिमन्यु गुप्ता ने बताया कि रविवार को न्याय की भीख मांग कर बेटियां सरकार को शर्मिंदा करेंगी ताकि सरकार को बेटियों के दर्द का एहसास हो। बेटियां गले में फांसी का फंदा लेकर प्रदर्शन करेंगी। कहा कि अभी तक सरकार की तरफ से बेटियों को कोई मदद नहीं आई है। अभी तक औपचारिक रूप से यूपी बाल आयोग से प्रियरंजन अंशु को हटाया नहीं गया है।

Ballia Tak on WhatsApp

Comments

Post A Comment