झांसी में दारोगा बना मुजरिम, गर्भवती पत्नी को सर्विस पिस्टल से मारी तीन गोलियां, निलंबित, जानें क्या है मामला

On

UP Crime News: उत्तर प्रदेश के झांसी जनपद में एक उपनिरीक्षक के गर्भवती पत्नी को सर्विस पिस्टल से गोली मारने का मामला सामने आया है. बांगरा चौकी इंचार्ज शशांक मिश्रा ने सर्विस रिवॉल्वर से पत्नी को गोली मार दी. बताया जा रहा है कि आरोपी दारोगा ने तीन गोली चलाई, जिसमें दो दो गोली उसकी पत्नी शालिनी के हाथ में जा लगी जबकि एक गोली पेट को छूते हुए निकल गई. पत्नी को मेडिकल कॉलेज में भर्ती करवाया गया है. इस घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया. पुलिस ने आरोपी दारोगा की तलाश करते हुए उसे हिरासत में ले लिया है. आरोपी दारोगा पर तत्काल कार्रवाई करते हुए उसे निलंबित कर दिया गया है. उससे पूछताछ की जा रही है. पुलिस के मुताबिक मामला पारिवारिक विवाद का है, उधर ससुराल पक्ष ने दारोगा पर दहेज मांगने के लिए उत्पीड़न के आरोप लगाए हैं. उनका कहना है कि दारोगा काफी समय से उनकी बेटी को दहेज के लिए परेशान कर रहा था. पुलिस आरोपों के आधार पर मामले की जांच पड़ताल कर रही है.

पत्नी के बात करते ही आरोपी दारोगा भड़का

झांसी के बांगरा चौकी इंचार्ज शशांक मिश्रा की 28 वर्षीय पत्नी शालिनी का आरोप है कि उनके पति रविवार दोपहर अपनी मां और भाई के पास झांसी शहर गए थे. इसके बाद देर रात वह घर लौटे तो हाव-भाव बदले हुए थे. आते ही वह मोबाइल में व्यस्त हो गए. शालिनी ने पुलिस को बताया कि इस दौरान उसने पति को थपकी मारते हुए कहा कि वह प्रेग्नेंट है और ऐसे समय में उसका हालचाल पूछने के बजाय वह मोबाइल में व्यस्त हैं. इस पर पति बेहद नाराज हो गए, उन्होंने उस पर हाथ उठाने का आरोप लगाय और अलमारी से पिस्टल उठाकर फायर करने लगे.

यह भी पढ़े - समर्पण जन कल्याण संगठन ने पिलवाया नींबू पानी

पड़ोसी के कमरे में घुसकर बचाई जान

दारोगा ने तीन गोली चलाई, जिसमें शालिनी के हाथ में दो गोली लगी और एक गोली पेट को छूते हुए निकल गई. शालिनी ने बताया कि पति ने पहली गोली चलाई तो उसने शू रैक को उसके पास गिरा दिया। फिर खुद को बचाते हुए कमरे में भागी. लेकिन, पति ने इसके बाद भी फायरिंग की. इस बीच उसने चिल्लाते हुए पड़ोसी का दरवाजा खटखटाया. पड़ोसी के घर छिपने पर दारोगा खुद को गोली से उड़ाने की धमकी देने लगा. फिर अंदर से पड़ोसी ने दारोगा को समझाया. इतने में मकान मालिक और अन्य पड़ोसी आ गए. दारोगा से पिस्टल छीनी. फिर सभी मेडिकल कॉलेज लेकर निकले और भर्ती कराया.

शादी के बाद से ही दहेज के लिए परेशान कर रहे ससुराल वाले

शालिनी के मुताबिक उसकी सास, देवर, ननद आदि ससुराल वाला कोई उसे पसंद नहीं करता. जब भी पति उन लोगों से मिलकर आते हैं तो बेहद गुस्से में रहते हैं. उनकी शादी को दो साल भी नहीं हुए हैं. शादी के बाद से ही ससुराल वाले परेशान कर रहे हैं. शादी में मायके वालों ने 25 लाख रुपए खर्च किया. इसके बाद भी ससुराल वालों का मन नहीं भरा. उनकी ओर से अंगूठी और दहेज के सामान की डिमांड की जाती रही है.

आरोपी दारोगा से पूछताछ कर रही पुलिस

इस बीच आरोप है​ कि शुरुआत में पुलिस मामले को दबाने में लगी रही. पुलिसकर्मियों ने दारोगा शशांक से गलती से गोली चली की बात कही. हालांकि मायके पक्ष के लोगों ने जब इसका विरोध किया तो पुलिस ने जांच, तहरीर और पत्नी के बयान के आधार पर कार्रवाई की बात कही. झांसी के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक राजेश एस. ने बताया कि मामला पारिवारिक विवाद का है, जिसके चलते दारोगा ने पत्नी पर फायर किए. आरोपी चौकी इंचार्ज शशांक मिश्रा को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है. इसके साथ ही उसे तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है. पूछताछ की जा रही है. इस संबंध में एफआईआर दज की गई है.

Ballia Tak on WhatsApp

Comments

Post A Comment