गोंडा: गला दबाकर हत्या करने के बाद नहर में फेंका गया था युवक का शव, पोस्टमार्टम रिपोर्ट में हुआ हत्या का खुलासा 

On

मनकापुर/गोंडा। मनकापुर कोतवाली क्षेत्र के धुसवा गांव के समीप रविवार को नहर में उतराते मिले शव को लावारिस मानकर उसका अंतिम संस्कार कराए जाने के बाद मामले में नया मोड़ आ गया है। युवक की मौत को लेकर पोस्टमार्टम रिपोर्ट में सनसनीखेज जानकारी सामने आई है। पीएम रिपोर्ट के मुताबिक युवक की गला दबाकर हत्या की गयी थी और घटना को छिपाने के लिए उसका शव सरयू नहर में फेंक दिया गया था। बुधवार को शव का अंतिम संस्कार होने की खबर समाचार पत्रों में पढ़ने के बाद बृहस्पतिवार को उसके परिजन मनकापुर कोतवाली पहुंचे और उसकी पहचान की। 

मृतक की पहचान के बाद अब पुलिस सकते में हैं। परिजन अब शव का दोबारा पोस्टमार्टम कराए जाने की मांग पर अड़े हैं। वहीं पुलिस का कहना है कि जब जिलाधिकारी की अनुमति के बाद ही दफनाए गए शव को निकाला जा सकता है। मनकापुर कोतवाली क्षेत्र के धुसवा गांव के समीप  रविवार को सरयू नहर में एक युवक का शव उतराता हुआ पाया गया था।  पुलिस ने शव का पंचनामा भरकर उसे पोस्टमार्टम के लिए भेजा था। शव की शिनाख्त नहीं हो सकी थी। 

यह भी पढ़े - LUCKNOW UNIVERSITY: स्टूडेंट्स ने सूर्यनमस्कार का अभ्यास, विश्वविद्यालय में योग माह का आयोजन

पुलिस ने शव को लावारिस मानकर उसका अंतिम संस्कार कर दिया था। लेकिन अब पोस्टमार्टम रिपोर्ट ने पुलिस को सकते में डाल दिया है।‌ दरअसल पोस्टमार्टम रिपोर्ट में युवक की गला दबाकर हत्या किए जाने की पुष्टि हुई है‌। इसके साथ ही मृतक की पहचान भी हो गयी है। मृतक‌ मनोज कुमार गोस्वामी (30) बहराइच जिले के विशेश्वरगंज थाना क्षेत्र के बेनीप्रसाद‌पुरवा गांव के रहने वाला था। बृहस्पतिवार को मनकापुर कोतवाली पहुंचे उसके पिता रामबचन ने फोटो से उसकी पहचान करने के बाद बताया कि मनोज 29 सितंबर को अयोध्या जाने के लिए घर से निकला था लेकिन वापस घर नहीं लौटा था।

उसके मोबाइल पर संपर्क करने की कोशिश की गयी तो वह भी बंद मिला। दूसरे दिन विशेश्वरगंज थाने में मनोज के गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करायी गयी थी। इसी बीच मंगलवार को समाचार पत्रों में अज्ञात शव की खबर छपी तो  बृहस्पतिवार को वह मनकापुर कोतवाली पहुंचे और मृतक की फोटो से उसकी पहचान अपने बेटे मनोज के रूप में की। पुलिस उसे घटनास्थल पर भी ले गयी जहां युवक का शव बरामद हुआ था। मृतक के पिता रामबचन का आरोप है कि उसके बेटे की हत्या करने के बाद उसका शव सरयू नहर में फेंक दिया गया और वह बहते हुए मनकापुर तक आ पहुंचा। 

रामबचन ने बेटे के शव का दोबारा पोस्टमार्टम कराए जाने की मांग की है। प्रभारी कोतवाल प्रबोध कुमार ने बताया कि मृतक के पिता आये थे। उन्हे नहर के पास ले जाया गया था। वह घटना अपने ही क्षेत्र में होने की बात कहते हुए शव का फिर से पोस्टमार्टम कराना चाहते है। इसके लिए नियमानुसार ही कार्यवाई हो सकती है। बिना उच्चाधिकारियों अथवा न्यायालय का आदेश मिले दफन किए गए शव को नहीं निकाला जा सकता है। घटना के अन्य तमाम बिन्दुओं की जांच की जा रही है।

Ballia Tak on WhatsApp

Comments

Post A Comment