फर्रुखाबाद: गुरु के बिना कल्याण नहींl नीरज शास्त्री

On

फर्रुखाबाद: आज श्रीमद्भागवत कथा के तीसरे दिन  आयोजन विकास खंड कमालगंज के अंतर्गत चुरसाई गांव में माखनलाल राजपूत के आवास पर हवन पूजन के साथ धूमधाम से आयोजित हुआ है , जिसके कथा व्यासजी मैनपुरी के प्रसिद्ध नीरज शास्त्री के मुखारविंद से हो रहा है , कथा के तृतीय दिवस में आज ध्रुव जी का चरित्र का बखान करते हुए शास्त्री जी ने कहा कि बहुत यह दुनिया मतलब की है ना हम किसी के हैं ना कोई हमारा हैl

मार्मिक ढंग से सुनाया , उन्होंने मानव कल्याण के लिए कई दृष्टांत देकर समझाते हुए कहा कि ये दुनिया मतलब की है सभी अपने स्र्वार्थ सिद्धि के लिए ही हैं , गुरु के बिना कल्याण सम्भव नहीं है और गुरु को बनाने से पहले यह भी जान लेना जरूरी है कि वह गुरु बनने के काबिल है या नहीं । आज कल तो ऐसे कई गुरु हैं , जो जेलों में पड़े हुए हैं , उनके सहयोगी जोगेश शास्त्री व संगत में उपेंद्र कुमार , धर्मेश कुमार और सुनील जी ने साथ दिया , कथा परीक्षित श्रीमती रामरती एवं माखनलाल राजपूत , आयोजन समिति में शीशराम राजपूत , पूर्व प्रधान अरविन्द राजपूत , राकेश सिंह , बाला  राजपूत , अतुल सिंह राजपूत , प्रवेश सिंह राजपूत , शिवम सिंह , विवेक राजपूत , मान सिंह , जितेन्द्र सिंह , ऋषभ सिंह , सच्चू सिंह , वीरभान सिंह , लज्जाराम बाबाजी , केशव राजपूत , रमेश चन्द्र राजपूत , राहुल राजपूत , राजपाल सिंह राजपूत आदि सैकड़ों लोग शामिल हुए हैं।

यह भी पढ़े - Ballia : शराब लदी बाइक को छोड़कर भागा तस्कर, 6 शराबी गिरफ्तार

Ballia Tak on WhatsApp

Comments

Post A Comment

Popular Posts

ताजा समाचार

बलिया : सेल्फी के चक्कर में रेल पुल से सरयू नदी में गिरी किशोरी, सन्न रह गई सहेली
फंदे पर लटका मिला हेड मास्टर का शव, मचा हड़कम्प
बलिया रेलवे स्टेशन पर दर्दनाक हादसा, ट्रेन की चपेट में आने से युवक की मौत ; युवती गंभीर
Kanpur: कोर्ट के आदेश पर कंपनी और निदेशकों पर दर्ज हुई धोखाधड़ी की रिपोर्ट; महिला को उठाना पड़ा था इतने करोड़ रुपये का नुकसान...
UP विधानसभा उपचुनाव: मुख्यमंत्री योगी ने मंत्रिमंडल के सहयोगियों के साथ की बैठक, इन मुद्दों पर हुई चर्चा
Kanpur: केस्को की टीम ने संविदा कर्मी के घर पर मारा छापा; बरामद हुए बिजली के नए व पुराने मीटर
बाढ़ के लिहाज से कानपुर अति संवेदनशील; आपदा प्रबंधन टीम करेगी मॉक एक्सरसाइज, हेलीकॉप्टर से बचाव व राहत का होगा पूर्वाभ्यास