Farrukhabad: मेरी मौत के जिम्मेदार… एबीएसए, लिपिक के साथ एक अन्य है, सुसाइड नोट लिखकर शिक्षक ने दी जान, जानें- मामला

फर्रुखाबाद में शिक्षक ने जहर खाकर जान दे दी।

On

फर्रुखाबाद में आठ साल से वेतन नहीं मिलने पर शिक्षक ने जहर खाकर जान दे दी। मरने से पहले शिक्षक ने सुसाइड नोट में एबीएसए सहित तीन को मौत का जिम्मेदार ठहराया है।

फर्रुखाबाद। कायमगंज कोतवाली क्षेत्र में पिछले आठ साल से वेतन नहीं मिलने से दुखी शिक्षक ने जहर खा कर आत्महत्या कर ली। उच्च न्यायालय प्रयागराज ने शिक्षक को वेतन बहाल करने के आदेश दिए थे। उसके बाद भी वेतन नहीं दिया जा रहा था। शिक्षक ने आत्महत्या से पहले छोड़े सुसाइड नोट में भी इसका जिक्र किया है। उसने एबीएसए सहित तीन पर प्रताड़ित करने व आत्महत्या करने के लिए मजबूर करने का आरोप लगाया है।

कायमगंज कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला काजम खां निवासी अनिल कुमार त्रिपाठी प्राथमिक स्कूल झब्बूपुर में सहायक अध्यापक के पद पर तैनात थे। वह पिता गिरीश चंद्र की मृत्यु के बाद मृतक आश्रित में भर्ती हुए थे। जनवरी 2016 में फर्जी दस्तावेज से भर्ती होने के आरोप में अनिल कुमार को बर्खास्त कर दिया गया था। अनिल कुमार ने इसके खिलाफ हाईकोर्ट में रिट दायर की थी।

यह भी पढ़े - मारपीट करने के मामले में वाँछित 02 नफर अभियुक्तों को किया गया गिरफ्तार

हाईकोर्ट ने 11 मार्च 2016 को अनिल कुमार त्रिपाठी को वेतन सहित बहाल करने के आदेश दिए थे। तत्कालीन बीएसए संदीप चौधरी ने खंड शिक्षा अधिकारी कायमगंज को अनिल कुमार त्रिपाठी का नियमित वेतन भुगतान करने के आदेश दिए थे। शिक्षक अनिल कुमार 17 मार्च 2016 को प्राथमिक स्कूल में योगदान आख्या देने गए। तो स्टाफ ने उन्हें हस्ताक्षर नहीं करने दिए।

इस संबंध में अनिल कुमार ने अधिकारियों से पत्राचार किया। उसके बाद से वह प्रतिदिन स्कूल जाते रहे। उनको वेतन का भुगतान नहीं किया गया। डीएम से लेकर अन्य अधिकारियों को प्रार्थना पत्र भी दिए।  सुनवाई न होने पर शिक्षक अनिल कुमार ने सुसाइड नोट लिखकर बुधवार की शाम जहर खा लिया। अपनी मौत के लिए शिक्षक ने एबीएसए, लिपिक व एक अन्य को जिम्मेदार ठहराया है।

परिजनों ने शिक्षक को गंभीर हालत में सीएचसी कायमगंज में भर्ती कराया। जहां डॉक्टरों ने हालत गंभीर देख उसे  लोहिया अस्पताल रेफर कर दिया। लोहिया अस्पताल से सैफई मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया गया। परिजन उन्हें सैफई मेडिकल कालेज ले जा रहे थे, रास्ते में शिक्षक की मौत हो गई। पुलिस अधीक्षक विकास कुमार ने बताया कि मामले की जांच कराई जाएगी, जांच के आधार पर दोषियों पर कार्रवाई की जाएगी।

Ballia Tak on WhatsApp

Comments

Post A Comment