Chitrakoot News : वकीलों ने हाईवे किया जाम, लगाए प्रशासन विरोधी नारे... न्यायिक कार्य से रहे विरत.

On

चित्रकूट। चार मासूमों की मौत से आक्रोशित अधिवक्ताओं ने गुरुवार की सुबह राष्ट्रीय राजमार्ग पर पटेल तिराहे के पास सांकेतिक जाम लगाया। इस दौरान प्रशासन, पुलिस और आयोजकों के खिलाफ जमकर नारेबाजी की गई। बाद में बार संघ भवन में बैठक कर दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की गई। 

जिला बार एसोसिएशन के अध्यक्ष संजय कुमार करवरिया और महासचिव मनोज कंचनी ने कहा कि 14 फरवरी को चित्रकूट इंटर कालेज में बुंदेलखंड गौरव महोत्सव में आतिशबाजी में विस्फोट हुआ। इसमें चार मासूमों की दर्दनाक मौत हो गई। इस घटना की जितनी भर्त्सना की जाए, कम है। इसके लिए जिला प्रशासन के साथ पर्यटन अधिकारी और अन्य लोगों पर सख्त से सख्त कार्रवाई की जानी चाहिए। 

यह भी पढ़े - सरकार मान ले हमारी मांगें, हम ऑनलाइन हाजिरी को हैं तैयार : जितेन्द्र सिंह

बैठक में अधिवक्ताओं ने इस लापरवाही के लिए जिम्मेदारी तय कर दोषियों पर मुकदमा चलाने और सीबीआई जांच कराने की भी मांग की। कहा कि परिजनों को ज्यादा से ज्यादा मुआवजा मिलना चाहिए। घटना के शोक में अधिवक्ता गुरुवार को न्यायिक कार्य से विरत रहे। 

हत्या का चले मुकदमा- रामप्रकाश

एडवोकेट काउंसिल के जिला प्रभारी रामप्रकाश पांडेय एडवोकेट ने कहा कि इस तरह के आयोजनों में सुरक्षा व्यवस्था न होना बड़ी लापरवाही है। इसके लिए दोषी लोगों पर हत्या का मुकदमा चले। भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के जिला सचिव अमित यादव एडवोकेट ने कहा कि सीआईसी में इस तरह के आयोजनों की अनुमति किसने दी। नहीं दी तो किस आधार पर यह आयोजन हुआ। पूरा मामला गहन जांच का विषय है। 

मऊ में भी अधिवक्ताओं ने नहीं किया काम

सीआईसी चित्रकूट में हुए हादसे को लेकर मऊ में भी अधिवक्ता संघ की अगुवाई में अधिवक्ता न्यायिक कार्य से विरत रहे। अध्यक्ष महेंद्र प्रसाद द्विवेदी ने बताया कि बुंदेलखंड गौरव महोत्सव में प्रशासन की लापरवाही से आतिशबाजी विस्फोट हुआ और चार बच्चों की दर्दनाक मौत हो गई। संघ ने की घोर निंदा की है और 15 फरवरी को न्यायिक कार्य से विरत रहने का निर्णय लिया।   

Ballia Tak on WhatsApp

Comments

Post A Comment

Popular Posts