Bulandshahar News : लैंड माफिया सुधीर गोयल की ठिकानों पर ईडी का छापा, 58 संपत्ति जब्त

On

प्रवर्तन निदेशालय ने 100 करोड़ के लैंड स्कैम में लैंड माफिया सुधीर गोयल की 27 करोड़ 49 लाख की 58 अचल संपत्तियों को जब्त कर लिया है। लैंड माफिया सुधीर गोयल पत्नी राखी गोयल और तीन साझेदारों के नाम पर 27 करोड़ 49 लाख की सम्पत्ति रजिस्टर थी। ईडी ने पिछले दिनों लैंड माफिया सुधीर गोयल और उसके नजदीकियों के कई ठिकानों पर की रेड की थी।

Bulandshahar News : प्रवर्तन निदेशालय ने 100 करोड़ के लैंड स्कैम में लैंड माफिया सुधीर गोयल की 27 करोड़ 49 लाख की 58 अचल संपत्तियों को जब्त कर लिया है। लैंड माफिया सुधीर गोयल पत्नी राखी गोयल और तीन साझेदारों के नाम पर 27 करोड़ 49 लाख की सम्पत्ति रजिस्टर थी। ईडी ने पिछले दिनों लैंड माफिया सुधीर गोयल और उसके नजदीकियों के कई ठिकानों पर की रेड की थी। छापेमारी के दौरान मिले कई दास्तावेजों के आधार पर 100 से अधिक का लैंड स्कैम पकड़ा था। लैंड माफिया सुधीर गोयल और उनके करीबी सहयोगी जय प्रकाश पर भूमि के नाम पर कई लोगों से धोखाधड़ी करने का आरोप है।

एक ही जमीन को कई लोगों को बेचा

यह भी पढ़े - गोंडा रेल हादसा: Ballia Tak की खबर पर लगी मोहर, रेलवे ट्रैक के किनारे से चौथा शव भी बरामद

आपको बता दें कि प्रवर्तन निदेशालय ने भूमि माफिया सुधीर गोयल और उनके नजदीकियों के कई ठिकानों पर छापेमारी की थी। करीब तीन सप्ताह पहले 9 जनवरी को ईडी ने छापा मारकर कई साक्ष्य जुटाए थे। वहीं जांच में पाया गया कि सुधीर गोयल और उनके तीन साझेदारों ने मिलकर यूपी के बुलंदशहर में 10 से ज्यादा अवैध कॉलोनियां बनाई थी। सबसे खास बात यह कि जिस जमीन पर बिल्डिंग बनी थी उसे बिना किसी बुनियादी ढांचे या सुविधाओं के भूखंडों काटकर ऊंची कीमतों पर बेचा गया। सुधीर गोयल ने अपने लैंड माफिया गिरोह के सदस्यों के साथ मिलकर एक ही भूमि को कई लोगों से बिक्री कर दिया। 

अवैध तरीके से बेचे कई प्लॉट

प्रवर्तन निदेशालय के अधिकारियों ने बताया कि जांच में सामने आया कि भूमि माफिया गिरोह ने निवेशकों को जाली और मनगढ़ंत कागजात के आधार पर गलत तरीके कई प्लॉट बेचे। इसके साथ ही यह भी पता चला कि अधिकतर कॉलोनियां कृषि योग्य जमीन पर बनाई गयी थी। प्रवर्तन निदेशालय द्वारा की गई छापेमारी में अवैध जमीन से संबंधित दस्तावेज और इलेक्ट्रॉनिक सबूत मिले थे। दस्तावेजों की जांच-पड़ताल करने के बाद यह भी पता चला कि भूमि की खरीद-फरोख्त में हुए लेनदेन की कीमत बाजार मूल्य से कम दर्शाया गया है। इसके अलावा बड़े पैमाने पर नकदी का लेनदेन भी किया गया है।

Ballia Tak on WhatsApp

Comments

Post A Comment

Popular Posts