बरेली में छुट्टा गोवंश का आतंक, सड़कों पर सांड के रूप में मिल रहे यमराज, किसान समेत दो को मौत के घाट उतारा

On

Bareilly News : छुट्टा गोवंश (सांड) पशुओं के गौशाला में होने के दावे काफी समय से किए जा रहे हैं। मगर, यूपी के बरेली में यह सांड लोगों की जान के दुश्मन बन गए हैं। सांडों ने आंवला में बाइक सवार और फतेहगंज पश्चिमी में साइकिल सवार पर हमला कर दिया। इससे दोनों की मौत हो गई। 

सींगों से पेट में किए गई वार

बरेली देहात के आंवला थाना क्षेत्र के मनौना गांव निवासी सतेंद्र मौर्य (26 वर्ष) बाइक से रिश्तेदारी में जा रहे थे। रामनगर रोड पर पेट्रोल पंप के नजदीक अचानक सांड आ गया। उसने सड़क पर बाइक को टक्कर मारकर गिरा दिया। इसके बाद सड़क पर गिरे सतेंद्र पर हमला कर दिया। सांड ने सींगों से उनके पेट में कई वार किए। राहगीरों ने सांड को भगाकर बचाया। उनको एंबुलेंस से सीएचसी ले जाया गया। मगर, हालत में सुधार न होने पर जिला अस्पताल को रेफर कर दिया। इलाज के दौरान सतेंद्र की रात में ही मौत हो गई। सतेंद्र के परिवार में पत्नी और एक बेटा है। 

यह भी पढ़े - डिजिटलाइजेशन को लेकर बलिया बीएसए की अनूठी पहल, बोले...

परिजन नहीं करा सके इलाज

दूसरी घटना में फतेहगंज पश्चिमी थाना क्षेत्र के औंध गांव निवासी राकेश कुमार (45 वर्ष) की भी सांड के हमले से मौत हो गई। मृतक के परिजनों ने बताया कि राकेश पाकड़, और गूलर के पत्ते पशुपालकों को बेचकर परिवार का भरण-पोषण करते थे।वह साइकिल से घर लौट रहे थे। फतेहगंज पश्चिमी कस्बे को नेशनल हाईवे से जोड़ने वाली सड़क पर एक गैस गोदाम के पास सांड ने हमला कर दिया। इससे वह घायल हो गए। काफी मुश्किल से घर पहुंचे। मगर, परिवार की आर्थिक स्थिति ठीक न होने के कारण से परिजन तुरंत इलाज नहीं करा सके। उनकी भी तबीयत अधिक खराब होने से मौत हो गई। 

45 दिन में 8 लोगों की मौत

बरेली में सांड के हमले से लगातार मौत हो चुकीं हैं। मगर, इसके बाद भी मौतों का सिलसिला नहीं थम रहा है। पिछले 45 दिन में 8 लोगों की मौत हो चुकी है। पिछले महीने तीन जनवरी को सीबीगंज के मथुरापुर गांव में एक सांड ने पीके नमकीन के सुपरवाइजर अनिल को बााइक से फैक्ट्री जाते समय घेर लिया, और सींगों से हमला कर उन्हें जमीन पर पटक दिया। इससे वह गंभीर रूप से घायल हो गए। इलाज के दौरान उन्होंने जिला अस्पताल में दम तोड़ दिया। दूसरी घटना में प्रेमनगर के डेलापीर के पास झूलेलाल पार्क के पास 9 जनवरी को डेलापीर मंडी से माल लेने जा रहे बनवारी लाल को सांड ने घेर लिया। उनको गंभीर रूप से घायल कर दिया। इलाज के लिए राजेन्द्र नगर स्थित एक अस्पताल में ले जाया गया। मगर,उनकी मौत हो गई थी। बारादरी के संजयनगर में 24 जनवरी को रिटायर केन मैनेजर करूणा शंकर पांडेय मार्निग वॉक से आ रहे थे। इसी दौरान घर से कुछ ही दूरी पर एक सांड ने घेर लिया, और हमला बोल दिया। गंभीर रूप से घायल होने के बाद परिजनों ने उनको इलाज के लिए निजी अस्पताल ले गए। डॉक्टर ने उनको मृत घोषित कर दिया। इसके बाद 3 फरवरी को शाही थाना क्षेत्र के सिहौर गांव निवासी बुजुर्ग जागनलाल (65 वर्ष) दोपहर चार बजे के समय धूप में बैठे हुए थे। इस दौरान वहां एक आवारा सांड आया। उनको देखते ही सांड ने हमला कर दिया। इससे उनकी मौत हो गई। मगर, अब एक ही दिन में दो लोगों की मौत हुई है।

Ballia Tak on WhatsApp

Comments

Post A Comment

Popular Posts