रामनवमी पर देवी मंदिरों में श्रद्धालुओं का तांता लगा रहा। मंदिर के प्रांगण में एक दिवसीय मेले का आयोजन किया गया, जिसमें बच्चे झूला झूल सके।

On

बलिया में नवरात्र को लेकर गिरिजाघरों में श्रद्धालुओं का खासा जमावड़ा लगा रहा।

बलिया में नवरात्र को लेकर गिरिजाघरों में श्रद्धालुओं का खासा जमावड़ा लगा रहा।

चैत्र रामनवमी के अवसर पर, कई देवी मंदिरों और अन्य बलिया मंदिरों में पूजा करने वालों की भीड़ लगी रही। मंदिरों में पूजा-अर्चना के अलावा मंदिरों में दिन भर लगने वाले मेलों में श्रद्धालु जमकर खरीदारी करते रहे।

यह भी पढ़े - बलिया में ड्यूटी के दौरान गर्मी से तड़पकर सफाईकर्मी की मौत, संगठन ने इस अफसर को ठहराया जिम्मेदार

शोमनाथपुर में मां भगवती मंदिर, गायघाट में मां दुर्गा देवी मंदिर, जिले के ब्राह्मण में मां भगवती मंदिर, उजियार में मां मंगला भवानी मंदिर, शंकरपुर में मां शंकरी भवानी मंदिर, शंकरपुर में मां भवानी मंदिर, उचेड़ा में मां भवानी मंदिर, मां जालपा सिकंदरपुर में कल्पा देवी मंदिर, माँ सयार माता मंदिर, बाँसुरी माँ दुर्गा मंदिर, रेवती माँ दुर्गा मंदिर और माँ पंचदेवी मंदिर सहित कई देवी मंदिरों में पूजा करने वालों की एक बड़ी भीड़ देखी गई।

मोर की पहली किरण फूटने से पहले ही रामनवमी के लिए चैत्र नवरात्रि के अंतिम दिन मंदिरों में भक्तों का तांता लग गया। चैत्र रामनवमी के अवसर पर जिले के विभिन्न देवी मंदिरों में एक दिवसीय मेले का आयोजन किया गया, बावजूद इसके वहां हमेशा चहल-पहल रहती है.

बलिया में नवरात्र को लेकर गिरिजाघरों में श्रद्धालुओं का खासा जमावड़ा लगा रहा।

पुलिस तंत्र सख्त रहा।

एक दिवसीय मेले में गायघाट में मां पचरूखा और शोभनाथपुर में मां भगवती के मंदिरों सहित अन्य स्थानों पर काफी संख्या में दर्शक पहुंचे। मेले के दौरान जलेबी, चाट, पकौड़े, पानी बतासे व प्रसाद सामग्री की दुकानों पर अच्छी खासी भीड़ रही। मेले में युवाओं के लिए रखी गई चरखी से ज्यादा बच्चों की दिलचस्पी मिकी माउस और खिलौनों की दुकानों में थी। मीना बाजार में महिला श्रद्धालुओं ने जमकर खरीदारी की। इस दौरान विभिन्न मंदिरों में पुलिस का कड़ा बंदोबस्त रहा।

Ballia Tak on WhatsApp
Tags

Comments

Post A Comment