बलिया जिला अस्पताल में हालात बिगड़े, स्ट्रेचर न होने से गोद में पड़ा मरीज, पीने के लिए पानी तक नहीं।

On

बलिया न्यूज: बलिया जिला अस्पताल में मरीजों की संख्या बढ़ने से अब व्यवस्थाओं में भी कमी नजर आ रही है.

बलिया न्यूज: बलिया जिला अस्पताल में मरीजों की संख्या बढ़ने से अब व्यवस्थाओं में भी कमी नजर आ रही है. स्थिति यह है कि निजी वाहनों से गंभीर मरीजों तक पहुंचने वाले परिजन स्ट्रेचर न मिलने से परेशान हैं और मरीजों को गोद में या हाथ पर लटका कर इमरजेंसी वार्ड में ले जा रहे हैं. स्टाफ की कमी के कारण स्ट्रेचर वार्डों से नहीं लौट रहे हैं।

इस बीच रविवार को अचानक जलापूर्ति ठप होने से अफरातफरी मच गई। रोगी व बढ़ई पीने के पानी के लिए भटकने लगे। सबसे बड़ी समस्या दिनचर्या को लेकर थी। अस्पताल प्रशासन ने आनन-फानन में पानी का टैंकर लगवा दिया। मरीजों की संख्या बढ़ने और स्वास्थ्य कर्मियों की संख्या कम होने से मरीजों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

वहीं लखनऊ से आई त्रिस्तरीय जांच टीम ने अस्पताल का निरीक्षण किया. जिसके बाद सीएमओ डॉ. जयंत कुमार को अस्पताल में तत्काल नर्स व अन्य स्टाफ उपलब्ध कराने का निर्देश दिया. टीम ने मरीजों को गर्मी से राहत दिलाने के लिए वार्डों के बाहर खिड़कियों पर कूलर लगाने के निर्देश दिए। साथ ही साफ-सफाई पर विशेष ध्यान देने को कहा। इसके अलावा टीम ने डॉक्टरों को लगातार वार्डों का दौरा करने और तेज बुखार वाले मरीजों पर विशेष ध्यान देने का निर्देश दिया।

Ballia Tak on WhatsApp

Comments

Post A Comment

ताजा समाचार

दलित महिलाओं के साथ हो रहे दुष्कर्मों पर लगे पूर्णतया प्रतिबंध दलित महिलाओं के साथ हो रहे दुष्कर्मों पर लगे पूर्णतया प्रतिबंध
सीतापुर। पश्चिम बंगाल के उत्तर चौबीस परगना जिले के संदेशखाली क्षेत्र की महिलाओं के साथ तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओ द्वारा...
बहराइच: निर्वाचन दायित्वों के लिए प्रशिक्षित किये गये अधिकारी
बदायूं: कुल की फातिहा के साथ दो रोज़ा उर्स ए फरीदी संपन्न
लखनऊ: राज्यपाल आनंदी बेन पटेल ने दिलाई शपथ
जालौन: मिशन शाक्त व् कृषि सिचाई समिति की डीएम ली जिलास्तरीय मीटिंग 
चित्रकूट: एडीएम नमामि गंगे को ज्ञापन सौंपते अमीन संघ के लोग।
चित्रकूट: सद्गुरू नेत्र चिकित्सालय में हुई कार्यशाला