बलिया में बढ़ी डेंगू और जेई के लक्षण वाले मरीजों की संख्या, स्वास्थ्य विभाग ने शुरू किये रोकथाम के प्रयास

On

Ballia News: बलिया में बारिश शुरू होते ही डेंगू का खतरा मंडराने लगा है. जिले के मनियर के सुल्तानपुर में डेंगू का मरीज मिला है।

Ballia News: बलिया में बारिश शुरू होते ही डेंगू का खतरा मंडराने लगा है. जिले के मनियर के सुल्तानपुर में डेंगू का मरीज मिला है। बैरिया के प्रसाद छपरा आलम राय के टोला में भी जापानी इंसेफेलाइटिस (जेई) का एक मरीज मिला.

डेंगू और जेई के लक्षण वाले मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए जिला अस्पताल के ट्रॉमा सेंटर के प्रथम तल पर 15 वार्डों का विशेष वार्ड बनाया गया है। ग्राउंड फ्लोर पर 5 बेड का अतिरिक्त वार्ड बनाया गया है. डेंगू व जेई की जांच के लिए अस्पताल में पर्याप्त व्यवस्था की गयी है.

सीएमएस डॉ. एसके यावद ने बताया कि शासन के निर्देश पर विशेष वार्ड बनाया गया है, इसमें डेंगू और जेई के मरीजों के इलाज की पर्याप्त सुविधाएं हैं। मरीजों को मच्छरदानी में रखा जाएगा। इधर, जिले में संचारी रोगों पर नियंत्रण के लिए अभियान चलाया जा रहा है। पिछले वर्ष जिला क्षेत्र में डेंगू के अधिक मरीज मिले थे, वहां विशेष रूप से छिड़काव कराया जा रहा है. संचारी रोग नियंत्रण अभियान रैंकिंग में जिले को 12वां स्थान मिला है। ग्राम पंचायत स्तर तक अभियान की गतिशीलता है। अभियान के तहत लोगों को जागरूक किया जा रहा है।

गौरतलब है कि पिछले साल बरसात के मौसम में पूरे जिले में 199 डेंगू के मरीज मिले थे. इसमें शहर के 33 डेंगू मरीज भी थे. एक मरीज जापानी इंसेफेलाइटिस (जेई) से भी पीड़ित पाया गया। जिला मलेरिया पदाधिकारी सुनील यादव ने बताया कि इस वर्ष बरसात की शुरुआत में ही मनियर में डेंगू का एक मरीज मिला है. पिछले सप्ताह बैरिया क्षेत्र के प्रसाद छपरा आलम राय के टोले में भी जेई का एक मरीज मिला था। इसके बाद संबंधित मरीज के घर समेत आसपास के 10 लोगों का सैंपल जांच के लिए भेजा गया था, लेकिन सभी की रिपोर्ट निगेटिव है.

यह भी पढ़े - राहुल गांधी की पदयात्रा पर नीरज शेखर का तंज, कहा-आजकल सिर्फ वोट के लिए पदयात्रा हो रही

Ballia Tak on WhatsApp

Comments

Post A Comment