बलिया: जमुना राम कॉलेज में आयोजित हुआ यूथ संवाद इंडिया कार्यक्रम, सांसद वीरेंद्र सिंह मस्त ने की शिरकत

On

Ballia: जमुना राम स्नातकोत्तर महाविद्यालय, चितबड़ागांव, बलिया में "युवा संवाद भारत@2047" कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के तौर पर बलिया सांसद वीरेंद्र सिंह मस्त पहुंचे.

उन्होंने सरस्वती मां की प्रतिमा पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्ज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। इस दौरान सांसद को कॉलेज के प्रबंधक प्रोफेसर धर्मात्मानंद ने माला व अंग वस्त्र देकर सम्मानित किया.

यह भी पढ़े - ससुराल में दामाद की हत्या से फैली सनसनी, गाय की भी ली जान, पुलिस भी हैरान

इस दौरान कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि पूर्व कुलपति प्रोफेसर ललन सिंह का कॉलेज के प्रबंध निदेशक तुषारानंद ने माला एवं अंग वस्त्र देकर स्वागत एवं सम्मान किया. कार्यक्रम में कॉलेज के विद्यार्थियों के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा दिए गए 'पंच प्राण' - विकसित भारत का निर्माण, गुलामी के हर विचार से मुक्ति, विरासत पर गर्व, एकता-एकजुटता और नागरिक कर्तव्य पर युवा संवाद प्रस्तुत किया गया।

विकसित भारत के लिए प्रधानमंत्री मोदी द्वारा दिए गए पंच प्राण मंत्र के महत्व पर प्रकाश डालते हुए सांसद वीरेंद्र ने कहा कि जो देश अपनी विरासत का सम्मान नहीं करता, वह विकसित नहीं हो सकता। हमें मेरी माटी मेरा देश के तहत विरासत को संभालने का संकल्प लेना होगा, तभी भारत विकासशील देश की श्रेणी में आ सकेगा।

देश विशाल भारत और अखंड भारत का सपना देख रहा है, इसलिए लोगों को मोटे अनाज के उत्पादन पर जोर देना चाहिए और मोटे अनाज का उपयोग करना चाहिए। कार्यक्रम के प्रायोजक समन्वयक, नेहरू युवा केंद्र रवीन्द्र मोहन जी ने भी पंच प्राण को अपने जीवन में लाने पर जोर दिया।

पूर्व कुलपति प्रोफेसर ललन सिंह ने भी अपने हालिया भाषण में कहा था कि आजादी के 100 साल बाद भारत कैसा होगा इसका सपना देखना युवाओं के लिए जरूरी है. विधि छात्र आर्यन राय ने युवाओं को पंच प्रण को पूरा करने के लिए आगे आने पर बल दिया ताकि हमारा देश विकसित देश की श्रेणी में अपना स्थान बना सके।

डीएलएड छात्रा स्वास्तिका ने भी कहा कि पंच प्राण के माध्यम से ही हम देश को विश्व पटल पर अग्रणी स्थान पर खड़ा कर सकते हैं। बीए की छात्रा गरिमा यादव ने भी अपनी भावपूर्ण कविता प्रस्तुत की। विधि छात्रा मधु सिंह डीएलएड छात्रा प्रज्ञा गुप्ता एवं विधि छात्र सोनू गुप्ता ने भी नागरिक कर्तव्य की याद दिलाते हुए अधिकार एवं कर्तव्य को एक साथ याद रखने की बात कही। डीएलएड छात्रा प्रिया गुप्ता ने अपने वक्तव्य में विकसित भारत के निर्माण हेतु पांच प्रतिज्ञाओं के बारे में भी बताया। विधि के छात्र मनु यादव ने पंचप्राण का स्मरण कराते हुए इसे आत्मसात करने पर जोर दिया।

Ballia Tak on WhatsApp

Comments

Post A Comment