रेड टैप मूवमेंट को लेकर बलिया के शिक्षक, छात्र और अभिभावकों से मिशन शिक्षण संवाद ने की यह अपील

On

Ballia News : मिशन शिक्षण संवाद बलिया के जिला संयोजक अजीत सिंह ने कहा है कि रेड टैप मूवमेंट में सिर्फ 4 अक्टूबर तक प्रतिभाग किया जा सकता है। आप भी लाल फीता बांध कर पेड़ बचाने का संकल्प लें और फोटो को निर्धारित प्रोफार्मा पर ट्वीट कर गूगल फार्म अवश्य भर दें। समस्त विद्यालय स्टाफ खुद के साथ-साथ कम से कम 10 छात्रों को भी अवश्य प्रतिभाग कराए। अगर ट्वीट करने या फार्म भरने में कोई समस्या आ रही है तो मिशन शिक्षण संवाद पर नाम, विद्यालय का नाम, ब्लॉक लिख कर फोटो सहित भेज दें, ताकि समय से फार्म भरा जा सकें।

जिला संयोजक अजीत सिंह ने कहा कि प्रत्येक वर्ष करोड़ों की संख्या में वृक्षारोपण किया जाता है, परंतु उनमें से कुछ पौधे ही वृक्ष बनकर हमारी धरा को हरा भरा एवं स्वच्छ बनाते हैं। बताया कि धरा को निर्मल और स्वच्छ बनाए रखने के लिए मिशन शिक्षण संवाद उत्तर प्रदेश द्वारा कई वर्षों से प्रकृति मित्र कार्यक्रम चलाया जा रहा है। इसके अंतर्गत सभी शिक्षक, विद्यार्थी, अभिभावक एवं अन्य लोग वर्षा ऋतु से पहले वृक्षारोपण की तैयारी करते हैं, फिर वर्षा ऋतु में पौधारोपण किया जाता है।

यह भी पढ़े - अयोध्या: राम मंदिर परिसर में एसएसएफ जवान को संदिग्ध परिस्थितियों में लगी गोली, मौत

प्रकृति मित्र अभियान के अंतर्गत वर्षा ऋतु में लगाए गए पौधों की सुरक्षा के लिए मिशन शिक्षण संवाद उत्तर प्रदेश एवं टीचर्स क्लब उत्तर प्रदेश द्वारा 1 अक्टूबर को रेड टेप मूवमेंट आयोजित किया गया है, जो 4 अक्टूबर 2023 तक चलेगा। बताया कि प्रत्येक वर्ष की भांति संपूर्ण उत्तर प्रदेश के शिक्षक, विद्यार्थी एवं अभिभावक पौधों एवं वृक्षों पर लाल फीता बांधकर उनकी सुरक्षा का संकल्प ले रहे है। अभियान में प्रतिभाग करने वाले सभी सदस्यों को रेड टेप मूवमेंट के फाउंडर प्रभात मिश्रा (असिस्टेंट डायरेक्टर नेशनल सेविंग) मिशन शिक्षण संवाद उत्तर प्रदेश एवं टीचर्स क्लब उत्तर प्रदेश द्वारा प्रशस्ति पत्र प्रदान किया जाएगा।

मिशन शिक्षण संवाद बलिया के संयोजक अजीत कुमार सिंह ने बताया कि मिशन शिक्षण संवाद विगत कई वर्षों से इस पुनीत कार्य को करता चला आ रहा है। प्रत्येक वर्ष इसमें हजारों की संख्या में शिक्षक विद्यार्थी एवं अभिभावक प्रतिभाग करते हैं, जिससे उनके विद्यालय हरे भरे एवं आसपास का वातावरण स्वच्छ निर्मल बन सका है। शिक्षकों द्वारा विद्यार्थियों में यह संस्कार रोपित करने के लिए उन्हें इन कार्यक्रमों में प्रतिभाग कराया जाता है, जिससे भविष्य में यह विद्यार्थी इस धरा को हरा भरा बनाए रखने की अपनी नैतिक जिम्मेदारी का निर्वाहन कर सकें। इस वर्ष भी हजारों की संख्या में शिक्षक विद्यार्थी अभिभावक इसमें प्रतिभा कर रहे है, जिन्हें प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया जाएगा।

Ballia Tak on WhatsApp

Comments

Post A Comment