बलिया के इस गांव में दिखा तेंदुआ, पहुंची पुलिस और वन विभाग की टीम ने किया अलर्ट

On

बांसडीह, बलिया। बांसडीह कोतवाली क्षेत्र के आदर गांव के समीप बांसडीह नारायणपुर मार्ग पर वीआईपी ईंट भट्ठे के पास बने खेल मैदान पर मंगलवार की देर शाम खेल कूद करने गए कुछ युवा तेंदुआ देख दंग रह गये। तेंदुए दिखने की खबर से गांव सहित अन्य क्षेत्रों में हड़कंप मच गया। तेंदुए की सूचना के बाद रात से ही ग्रामीण दहशत में है। बुधवार को वन विभाग व पुलिस टीम गांव में पहुंची और ग्रामीणों से बातचीत किया।  

ग्राम प्रधान प्रतिनिधि अरविंद सिंह ने बताया कि रात में आठ बजे के करीब गांव के तीन युवक बांसडीह, मनियर मार्ग पर खेल मैदान के पास से आ रहे थे, तभी उन्हें खेतों की ओर भागता हुआ तेंदुआ दिखाई दिया। युवकों ने गांव के लोगों को सूचना दी। रात में ही गांव के लोग एकत्रित हो कर खेतों की ओर गये थे, लेकिन कुछ पता नहीं चला। बुधवार को दिन में तेंदुए की डर से ग्रामीण खेतों में काम करने नहीं गये।

ग्रामीणों ने वन विभाग को सूचना दिया। वन विभाग की गांव में पंहुची टीम ने तेंदुआ के पैर की निशान को देखा। उन्होंने ग्रामीणों से घर से अकेले न निकलने तथा शाम व रात में घर से बाहर न निकलने को कहा। उन्होंने आसपास के गांवों देवडीह, नारायनपुर, मिश्रवलिया, दादर आदि गांवों के लोगों से भी दो तीन दिन सचेत रहने का सलाह दिया। मौके पर पहुंचे क्षेत्रीय वन अधिकारी बांसडीह अभिषेक सिंह व मनियर सरिता गौतम ने बताया कि पैर के फुटेज देखकर लगता हैं कि फिशिंग कैट भी हो सकता है।

फिसिंग कैट रात के समय मछली पकड़ने के लिए दहताल व सुरहाताल के किनारे घूमते हैं। फिर भी उन्होंने ग्रामीणों से सावधान रहने की सलाह दिया। वन विभाग की टीम ने फिर से तेंदुआ दिखने पर तत्काल सूचना देने को कहा। इस दौरान सुबोध यादव, निर्भय सिंह,मृत्युंजय सिंह,पवन तिवारी, जवाहर यादव, भीम सिंह, जितेन्द्र पाण्डेय, हरिशंकर प्रसाद आदि थे।

यह भी पढ़े - यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा 2023 : 512वीं रैंक के साथ बलिया के आफताब ने भरी सफलता की उड़ान

Ballia Tak on WhatsApp

Comments

Post A Comment