बलिया में लगातार हो रही मौतों से स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप, डिप्टी सीएम बोले- लू कोई और बीमारी नहीं, निदेशक स्वास्थ्य ने जताई चिंता

On

बलिया: भीषण गर्मी से लगातार हो रही मौत से बलिया से लेकर लखनऊ तक हड़कंप मच गया है। जहां एक तरफ लखनऊ में उपमुख्यमंत्री व स्वास्थ्य मंत्री बृजेश पाठक बलिया में हुई मौतों की वजह लू से ज्यादा गंभीर बता रहे हैं

बलिया: भीषण गर्मी से लगातार हो रही मौत से बलिया से लेकर लखनऊ तक हड़कंप मच गया है। जहां एक तरफ लखनऊ में उपमुख्यमंत्री व स्वास्थ्य मंत्री बृजेश पाठक बलिया में हुई मौतों की वजह लू से ज्यादा गंभीर बता रहे हैं और यह भी दावा कर रहे हैं कि अस्पतालों में मरीजों के इलाज की समुचित व्यवस्था है.

वहीं लखनऊ से जांच करने पहुंचे निदेशक स्वास्थ्य डॉ. एके सिंह ने कहा कि मौतों की संख्या में अचानक वृद्धि चिंता का विषय है. उन्होंने कहा कि भर्ती मरीजों में 60% युवा हैं और 40% बुजुर्ग या बुजुर्ग हैं। सभी ने सीने में दर्द और बुखार के बाद सांस लेने में तकलीफ की शिकायत की है। कुछ रोगियों को उल्टी दस्त की भी शिकायत होती है। डॉ. सिंह ने कहा कि सभी की जांच की जा रही है, रिपोर्ट आने पर पता चलेगा कि उनकी तबीयत अचानक क्यों बिगड़ी. साथ ही कहा कि जिला अस्पताल में इलाज संबंधी किसी भी चीज की कमी नहीं है।

यह भी पढ़े - बलिया में आंधी-पानी ने मचाई तबाही, जनरल स्टोर पर गिरा बड़ा पेड़ ; इस इलाके में बिजली गुल

बांसडीह-गडवार में होगी पानी की जांच - इसके अलावा निदेशक डॉ. एके सिंह ने बताया कि जिला अस्पताल में बांसडीह और गड़वार प्रखंड से सबसे ज्यादा मरीज व मृतक मिले हैं. ऐसे में हमारी टीम शाम को इन दोनों जगहों पर जाकर जांच करेगी। यहां के पानी का भी परीक्षण किया जाएगा, यह भी देखा जाएगा कि कहीं इन इलाकों में बीमारी फैलने के लिए पानी जिम्मेदार तो नहीं है। बता दें कि सरकारी आंकड़ों के मुताबिक जिला अस्पताल में 3 दिनों में 54 लोगों की मौत हो चुकी है.

Ballia Tak on WhatsApp

Comments

Post A Comment