बलिया में नदी किनारे मिले युवक के कपड़े: परिजन ने जताई डूबने की आशंका, खेत पर पिता को खाना देने गए थे

On

शिवपुर दियार नई बस्ती निवासी विक्रम सहनी अपने पिता राजकिशोर सहनी का खाना लेकर गंगा किनारे परवल के खेत पर गया था. कुछ देर बाद वह पिता को बताए बिना चला गया, लेकिन घर नहीं पहुंचा।

बलिया के शिवपुर दियार नई बस्ती निवासी विक्रम सहनी रविवार की दोपहर अपने पिता का खाना लेकर परवल के खेत गए थे, लेकिन घर नहीं लौटे. पिता ने गंगा किनारे अपने कपड़े आदि देखकर डूबने की आशंका जताते हुए बिचला घाट पुलिस चौकी को सूचना दी. इसके साथ ही परिजनों ने विक्रम की काफी खोजबीन की, लेकिन विक्रम का कहीं पता नहीं चला।

शिवपुर दियार नई बस्ती निवासी विक्रम सहनी अपने पिता राजकिशोर सहनी का खाना लेकर गंगा किनारे परवल के खेत पर गया था. कुछ देर बाद वह पिता को बताए बिना चला गया, लेकिन घर नहीं पहुंचा। शाम को जब राजकिशोर खेत से घर आया तो उसने विक्रम को घर पर न देखकर परिजनों से पूछताछ की। परिजनों ने बताया कि विक्रम अभी तक घर नहीं आया है। राज किशोर अपने बेटे की तलाश में निकल पड़े। जब वह गंगा नदी के तट की ओर गया तो तट पर विक्रम के वस्त्र आदि देखकर उसके डूबने की आशंका व्यक्त की। बिचला घाट पुलिस चौकी को सूचना देकर मदद की गुहार लगाई।

यह भी पढ़े - धूमधाम से मनाया गया ईद-उल अजहा का त्योहार, ईदगाह में हजारों लोगों ने अदा की नमाज

देर शाम तक एनडीआरएफ नहीं पहुंची

सोमवार को बड़ी संख्या में ग्रामीण गंगा घाट पहुंचे और विक्रम की तलाश में जुट गए। पुलिस से दोबारा संपर्क करने पर जवाब मिला कि एनडीआरएफ को सूचना दी गई है, लेकिन एनडीआरएफ की टीम विक्रम को खोजने देर शाम तक गंगा घाट पर नहीं पहुंची. इसको लेकर परिजनों में काफी नाराजगी है। विक्रम साहनी की तीन बेटियां और एक बेटा है। परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल है।

Ballia Tak on WhatsApp
Tags

Comments

Post A Comment