पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर को उनके जन्मदिन पर याद किया जाता है: बलिया में एक कांग्रेस कार्यकर्ता ने दावा किया कि डबल इंजन सरकार नई ईस्ट इंडिया कंपनी है।

On

बलिया में विपक्ष के पूर्व नेता रामगोविंद चौधरी ने दावा किया कि अडानी, अंबानी और अन्य लोगों के नेतृत्व वाली नई ईस्ट इंडिया कंपनी ने देश की कानूनी और लोकतांत्रिक संस्थाओं पर नियंत्रण कर लिया है।

बलिया तक: बलिया में विपक्ष के पूर्व नेता रामगोविंद चौधरी ने दावा किया कि अडानी, अंबानी और अन्य लोगों के नेतृत्व वाली नई ईस्ट इंडिया कंपनी ने देश की कानूनी और लोकतांत्रिक संस्थाओं पर नियंत्रण कर लिया है। इस नए व्यवसाय का आधिकारिक प्रतिनिधि डबल इंजन की सरकार है।

उन्होंने जोर देकर कहा कि राष्ट्र को इस नई ईस्ट इंडिया कंपनी से मुक्त करने के लिए चंद्रशेखर के उदाहरण का पालन करना हम सभी के लिए आवश्यक है। राम गोविंद चौधरी ने सोमवार को उनके जन्म दिवस के अवसर पर राष्ट्रीय नायक चंद्रशेखर की पेंटिंग पर श्रद्धांजलि अर्पित की। उन्होंने कहा कि पिछले आठ वर्षों के आर्थिक ग्राफ की जांच करें तो देश की औसत आय में लगातार गिरावट आ रही है।

यह भी पढ़े - Ballia News: जिलाधिकारी ने योग सप्ताह के लिए की बैठक

भारतीय रुपया गिर रहा है, जबकि इस नई ईस्ट इंडिया कंपनी से अडानी और अंबानी समूह का मुनाफा लगातार बढ़ रहा है। अडानी समूह की कार्रवाई अब अपेक्षित है। इसके बाद भी भारत सरकार जांच के लिए तैयार नहीं है। उन्होंने कहा कि 25 से अधिक बेईमान व्यक्ति सरकार की मिलीभगत से भारतीय संस्थानों को दिवालिया करके विदेशों में मुनाफा कमा रहे हैं।

कहा: "सरकार को जवाब देना चाहिए।"

अडानी और अंबानी समूह का कारोबार भारतीय बैंकों द्वारा भारी वित्तपोषित है। घोषणा करें कि पूरा देश यह जानने में रुचि रखता है कि भारतीय बैंकों और अन्य सरकारी संगठनों ने इन दो समूहों में कितना निवेश किया है। इन दोनों संगठनों ने विशिष्ट समय और प्राप्तकर्ताओं के बदले में एक महत्वपूर्ण राशि दान की है।

चन्द्रशेखर जी आज उपस्थित होते तो संसद जाने की लड़ाई लड़ते।

यह अफवाह है कि इस नए उद्यम के प्रतिनिधि इस विषय को दरकिनार करने के लिए डबल इंजन सरकार हिंदू-मुस्लिम कार्ड का उपयोग कर रहे हैं। उन्होंने जोर देकर कहा कि यदि चंद्रशेखर जी आज उपस्थित होते तो संसद से लेकर सड़क तक इस मामले में लड़ते। अगर हम उनके वफादार अनुयायी माने जाना चाहते हैं तो हम सभी को यह सवाल उठाना चाहिए। राष्ट्र नायक चंद्रशेखर को आधुनिक विश्व की यही उचित श्रद्धांजलि है। इस मौके पर राघव सिंह, राजेंद्र चौधरी, अब्दुल कलाम, संदीप यादव, दिनेश यादव, विद्यावासनी यादव, दीपक मिश्रा, प्रदीप राम, रामप्रताप यादव, सुनील प्रजापति, राजू खरवार आदि मौजूद थे।

Ballia Tak on WhatsApp
Tags

Comments

Post A Comment