तिरंगा यात्रा निकालकर बलिया के शिक्षामित्रों ने सांसद के सामने रखी यह मांग, फिर...

On

Ballia News : अपनी विभिन्न समस्याओं पर शासन का ध्यान आकृष्ट कराने के उद्देश्य से रविवार को उत्तर प्रदेश प्राथमिक शिक्षामित्र संघ के प्रांतीय नेतृत्व के निर्देश पर जिले के शिक्षामित्रों ने तिरंगा यात्रा निकाली। यात्रा पीडब्ल्यूडी डाक बंगला पहुंची, जहां शिक्षामित्रों ने सांसद वीरेंद्र सिंह मस्त को ज्ञापन सौंपा। 

संवाद से समाधान कार्यक्रम के तहत रामलीला मैदान (बीएसए कार्यालय) से शुरू हुई तिरंगा यात्रा एलआईसी रोड, माल गोदाम, स्टेशन रोड, चिंत्तू पांडे चौराहा, रोडवेज, टीडी कॉलेज चौराहा होते हुए कुंवर चौराहा स्थित पीडब्ल्यूडी डाक बंगला पहुंची। शिक्षामित्र वहां धरना प्रदर्शन करने लगे। इसकी सूचना मिलने पर सांसद वीरेंद्र सिंह मस्त मौके पर पहुंचे और ज्ञापन लिया।

यह भी पढ़े - International Yoga Day: राम की पैड़ी पर हुआ मुख्य आयोजन,पूर्वजों की भारतीय चिकित्सकीय पद्धति है योग- मंत्री जयवीर सिंह

img-20230904-wa0003

शिक्षा मित्रों ने कहा कि वे पिछले 22 सालों से गरीब, शोषित, वंचित, पिछड़े बच्चों को शिक्षा दे रहे हैं। वर्तमान में प्रदेश के लगभग 1.5 लाख शिक्षामित्र अपने बच्चों की पढ़ाई, परिवार की परवरिश, दवा, बच्चों की शादी आदि को लेकर चिन्तित हैं। शिक्षामित्रों की आर्थिक स्थिति काफी दयनीय हो चुकी हैं। इस कारण प्रतिदिन औसतन 4-5 शिक्षामित्र की मृत्यु हो रही है।

उत्तर प्रदेश प्राथमिक शिक्षामित्र संघ के जिलाध्यक्ष पंकज सिंह के नेतृत्व प्रदर्शन कर रहे शिक्षामित्रों ने मांग की कि नियमावली में संशोधन कर योग्यता पूर्ण कराते हुए उन्हें पुनः समायोजित/नियमित किया जाय। समायोजन प्रक्रिया पूर्ण होने तक 12 माह, 62 वर्ष की सेवा सुरक्षित करते हुए सम्मानजनक वेतनमान दिया जाय। नई शिक्षा नीति में शिक्षा मित्रों को सम्मिलित कर इनका भविष्य सुरक्षित किया जाय। दिवंगत शिक्षा मित्रों के परिवार को अहेतुक सहायता प्रदान करते हुए आश्रित को जीविकोपार्जन हेतु नियुक्ति दी जाय। टीईटी पास शिक्षा मित्रों को नियमों में शिथिलता देते हुए सहायक अध्यापक पद पर नियमित किया जाय।

img-20230904-wa0002

मूल विद्यालय में वापसी से वंचित शिक्षा मित्रों को पुनः एक अवसर प्रदान करते हुए मूल विद्यालय में वापस किया जाय एवं महिला शिक्षा मित्रों का विवाहोपरान्त उनके ससुराल के जनपद के विद्यालय में स्थानान्तरित किया जाय। सांसद ने आश्वासन दिया कि वे शिक्षामित्रों की समस्याओं को लेकर हमेशा उनके साथ खड़े है। वह इस बात के लिए प्रयासरत हैं कि शिक्षामित्रों  को समान कार्य के लिए समान वेतन मिले।

इस मौके पर राजेश साहनी, सूर्यनाथ राम, निर्भय नारायण राय, राकेश पाण्डेय, परवेज अहमद, अजय श्रीवास्तव, हरेराम यादव, राजीव मिश्र, सत्येंद्र मौर्य, रमेश पाण्डेय, भरत यादव, सरल यादव, रणवीर सिंह, अरविंद कुमार, जयप्रकाश तिवारी, मनोज शर्मा, आनंद पाण्डेय, फैसल अजीज, मुकेश राय, मंजूर हुसैन, तेजनारायण सिंह, विनय कुमार, लालजी वर्मा, वसीम अहमद, धर्मनाथ सिंह, इंद्रकेश चौहान, संजय प्रसाद, मनीष सिंह, मनीष कुमार, विनोद चौबे, अजय सिंह, नरेन्द्र बहादुर वर्मा, अवधेश भारती, विनोद शुक्ला, शिव कुमार सिंह, राजेश प्रजापति पप्पू कुंवर, दिलीप सिंह, अक्ष्यलाल, सुरेश चौहान, प्रभुनाथ चौहान, तेजबहादुर चौहान, राहुल जी, नथुनी राम, देवनाथ यादव, जितेंद्र ओझा, हरेंद्र, रमेश चौबे, अरबिंद राम, राघवेंदर सिंह, नरेन्द्र भारती, अजय पाण्डेय, बच्चा लाल, धर्मेन्द्र यादव, मंटू यादव, बर्जेश यादव, लाल बाबू, दिलीप सिंह, शशिभूषण मौर्या, शिवकुमार, गुलाब, दिनेश यादव बिवेक पाठक, कमल किशोर पाण्डेय, आनंद ओझा, सुग्रीव साहनी, संतोष यादव, माधव यादव, मनोज यादव, अरविंद यादव, डिम्पल सिंह, प्रवीणा सिंह, रीमा चौधरी, कंचन यादव, गीता यादव रिंकू सिंह, सुमन सिंह, संगीता चौहान, इन्दू पाठक, मधु श्रीवास्तवा, नीलमणि सिंह, चंद्रशीला रीता, गुड़िया देवी, रेखा सिंह, गिरजा देवी, पिंकी उपध्याय, शुष्मा, पुष्पा, ममता, रीना, सुनीता, शिप्रा गुप्ता आदि थे।

Ballia Tak on WhatsApp

Comments

Post A Comment