Ballia News: बारिश की मार से बलियावासी बेहाल, मानसून सीजन की तैयारी जगजाहिर।

On

Ballia News: बलिया में पहली ही बारिश में सरकार की पोल खुल गई है. 15 जून तक नालों की सफाई होनी थी.

Ballia News: बलिया में पहली ही बारिश में सरकार की पोल खुल गई है. 15 जून तक नालों की सफाई होनी थी, लेकिन चल रहे निर्माण के कारण सड़क पर नाली सामग्री अटी पड़ी है। और जैसे ही बारिश शुरू होती है तो मलबा या तो सड़क पर फैल जाता है या फिर वापस नाले में चला जाता है. नतीजतन लोगों की परेशानी और बढ़ गयी है.

ऐसी ही घटना मंगलवार को कदम चौराहा-अमृतपाली रोड पर देखने को मिली. जहां बारिश के कारण बाढ़ की स्थिति उत्पन्न हो गई। कीचड़ भरी, चिकनी सड़कों के कारण यातायात अत्यंत कठिन था। शहर के करीब एक दर्जन अलग-अलग हिस्सों में जलजमाव हो गया. सरकारी भवन से लेकर एनएच और कॉलोनी की सड़कों पर बने गड्ढों में पानी भर जाने से लोगों को आवाजाही में काफी परेशानी हुई. रामपुर आईटीआई चौराहा से आनंदनगर तक सड़क पर कीचड़ फैलने से बच्चों को स्कूल आने-जाने में काफी दिक्कत हुई।

समाहरणालय परिसर, पुलिस लाइन, आयुर्वेद कॉलोनी, बनकटा और निरोहनगर कॉलोनी को छोड़कर कहीं-कहीं लोगों के घरों में घुटने तक पानी घुसने लगा। इसके अलावा एनसीसी तिराहा, मिड्ढी चौराहा, हरपुर मोहल्ला और मालगोदाम चौराहा के आसपास भी पानी जमा हो गया है। लोगों का दावा है कि प्रत्येक मानसून से पहले नालों की सफाई के उपाय किए जाने के बावजूद, बारिश होने पर उन्हें अभी भी समस्याओं का सामना करना पड़ता है।

नगर पंचायत बांसडीह के वार्ड संख्या 6 व 7 के बीच जलजमाव के कारण माता होते हुए उत्तर टोला को जोड़ने वाली सड़क बंद है। जल निकासी की व्यवस्था नहीं होने से बरसात का पानी व नालियां सड़क पर ही जमा हो जाती है। मेंहदी माता मंदिर और वैद्यजी पांडे के घर पर भी पिछले चार दिनों से जलजमाव है. भाजपा के मंडल अध्यक्ष प्रतुल ओझा ने एसडीएम राजेश गुप्ता को पत्र भेजकर जलजमाव से राहत दिलाने की गुहार लगाई है।

यह भी पढ़े - चाईछपरा सुरेमनपुर में निःशुल्क पेयजल सुविधा के उद्घाटन पर एडीआरएम निर्भय नारायण सिंह ने एक अहम बयान दिया.

Ballia Tak on WhatsApp

Comments

Post A Comment