Ballia News: सेल्समैन ही निकला चोरी का मास्टरमाइंड, पुलिस ने पकड़ा

On

बलिया। चितबड़ागांव थाने में जिस सेल्समैन के खिलाफ 28 मोबाइल सेट की चोरी की प्राथमिकी दर्ज करायी गयी थी, वही चोरी का मास्टरमाइंड निकला.

बलिया। चितबड़ागांव थाने में जिस सेल्समैन के खिलाफ 28 मोबाइल सेट की चोरी की प्राथमिकी दर्ज करायी गयी थी, वही चोरी का मास्टरमाइंड निकला. पुलिस ने घटना का खुलासा करते हुए सेल्समैन विवेक सिंह पुत्र अशोक सिंह निवासी वैना थाना फेफना बलिया को गिरफ्तार कर लिया।

विवेक ने 28 सेट मोबाइल चुराये, इसकी प्राथमिकी चितबड़ागांव थाने में मु.अ.सं. पुलिस ने घटना को गंभीरता से लेते हुए चोरी गए मोबाइल की आईएमईआई जांचने के लिए सर्विलांस टीम को भेजा।

सर्विलांस टीम लगातार इसका खुलासा करने में लगी हुई थी. इसी बीच सूचना मिली कि चोरी गए मोबाइल में से एक मोबाइल चालू हो गया है। जिसमें मोबाइल नंबर 7275387597 का इस्तेमाल किया जा रहा था.

सर्विलांस टीम ने मोबाइल धारक रमेश प्रसाद पुत्र खलीफा प्रसाद निवासी कोटिया सुरही थाना नरही का विवरण चितबड़ागांव पुलिस को उपलब्ध कराया।

यह भी पढ़े - UP Board Exam : रात के अंधेरे में परीक्षा केन्द्रों का सच देखने पहुंचे बलिया एसपी

इसकी सूचना मिलते ही चितबड़ागांव पुलिस की टीम रमेश के घर पहुंची. रमेश ने पुलिस को गोल्डी पीसीओ लक्ष्मणपुर चट्टी थाना नरही की दुकान से मोबाइल खरीदने की जानकारी दी और बिल भी दिखाया।

पुलिस गोल्डी पीसीओ रमेश को साथ लेकर लक्ष्मणपुर पहुंची। पूछताछ करने पर दुकानदार संतोष कुमार सिंह ने बताया कि उसे मोबाइल वैना निवासी अशोक सिंह के पुत्र सेल्समैन विवेक सिंह ने बेचा था. बाकी चार नंबर उन्होंने मोबाइल पुलिस टीम को उपलब्ध करा दिए।

सेल्समैन के खुलासे पर चितबड़ागांव पुलिस के सेल्समैन विवेक सिंह सुरागरसी करते हुए नरही मोड़ पहुंचे। मुखबिर की सूचना पर सेल्समैन को राजू होटल के पास से पकड़ लिया गया। तलाशी लेने पर उसके पास से चोरी का नया मोबाइल बरामद हुआ।

पुलिस ने सख्ती से पूछताछ की तो विवेक ने बताया कि मैं डिस्ट्रीब्यूटर हरीश शुक्ला पुत्र दिनेश शुक्ला निवासी रामपुर उदयभान निकट गायत्री मंदिर थाना बलिया के यहां सेल्समैन का काम करता था।

तीन अक्टूबर को उसके यहां से नोकिया मोबाइल फोन के 28 सेट दुकानों में बांटने के लिए ले गए थे। चूंकि मेरे ऊपर 8-10 हजार रुपये का कर्ज था, इसलिए मुझे उसे चुकाने का लालच था. इसलिए मैं लक्ष्मणपुर बाजार गया और कुछ मोबाइल गोल्डी पीसीओ पर बेच दिया, बाकी लाकर छिपा दिया.

और चितबड़ागांव थाने में जाकर अपने डिस्ट्रीब्यूटर मालिक को बुलाया और मोबाइल चोरी का झूठा केस दर्ज करा दिया. मुझे नहीं पता था कि इतने दिनों के बाद भी मैं पुलिस की पकड़ में आ जाऊंगा. बाकी मोबाइल को भी वह ठिकाने लगाने जा रहा था तभी आप लोगों ने उसे पकड़ लिया। इस तरह कुल 14 मोबाइल बरामद हुए.

इस प्रकार विवेक सिंह ने अपने डिस्ट्रीब्यूटर को धोखा देकर मोबाइल बेचकर पैसे अपने पास रख लिये तथा पुलिस को गुमराह कर उपरोक्त झूठी सूचना पर मामला दर्ज करा दिया।

जिसके चलते अभियुक्त विवेक सिंह पुत्र अशोक कुमार सिंह निवासी वैना थाना फेफना जनपद बलिया के विरूद्ध धारा 406.420,411,182 भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर गिरफ्तार किया गया

कर चुके है। गिरफ्तार करने वाली टीम में प्रो0 रामसजन नागर, प्रो0 विजय प्रकाश त्रिपाठी, वंश बहादुर सिंह, कां. अविनाश चौधरी, रवि चंद, अभिषेक सिंह, विनोद चौहान और सत्यप्रकाश पटेल।

Ballia Tak on WhatsApp

Comments

Post A Comment

ताजा समाचार

Jaunpur News : नितिन गडकरी ने दी करोड़ों की सौगात, बोले-मुंबई जैसा बनेगा जौनपुर Jaunpur News : नितिन गडकरी ने दी करोड़ों की सौगात, बोले-मुंबई जैसा बनेगा जौनपुर
Jaunpur News : भारत सरकार के राष्ट्रीय राजमार्ग कैबिनेट मंत्री नितिन गडकरी शुक्रवार को जौनपुर दौरे पर पहुंचे। जिले में...
लोकसभा चुनाव 2024 : बलिया के प्रत्येक बूथों पर बड़े अंतर से जीत की BJP ने बनाई रणनीति
बहराइच: ट्रेन से कटकर ग्रामीण की मौत, परिवार में कोहराम
बदायूं: महिला वकील से दो युवकों ने की छेड़छाड़, रिपोर्ट दर्ज
महिला JE के साथ चल रहा था असिस्टेंट इंजीनियर का अफेयर, पत्नी ने रंगेहाथ पकड़ा ; फिर...
Narendra Modi : लोकसभा चुनाव से पहले तृणमूल का काउन डाउन शुरु, पीएम मोदी ने कहा, बंगाल में जीतेंगे सभी सीटें
खनन से भरी ट्रैक्टर ट्राली ने टेंपो चालक को कुचला, मौके पर दर्दनाक मौत, लगाया जाम