Ballia News : सपा के राष्ट्रीय सचिव ने बजट को बताया आम लोगों के लिए निराशाजनक 

On

उत्तर प्रदेश में योगी आदित्याथ सरकार के दूसरे कार्यकाल का तीसरा आम बजट सोमवार को विधानसभा में पेश किया गया। इस बजट का आकार भले ही बहुत बड़ा हो, लेकिन सभी इससे संतुष्ट नजर नहीं आ रहें हैं।

Ballia News : उत्तर प्रदेश में योगी आदित्याथ सरकार के दूसरे कार्यकाल का तीसरा आम बजट सोमवार को विधानसभा में पेश किया गया। इस बजट का आकार भले ही बहुत बड़ा हो, लेकिन सभी इससे संतुष्ट नजर नहीं आ रहें हैं। विपक्ष द्वारा उत्तर प्रदेश सरकार के बजट को आम लोगो के लिए निराशाजनक बताया जा रहा है। प्रदेश के आम लोगो को बजट से काफी उम्मीदें थी। चुनावी साल होने के नाते अनुमान लगाया जा रहा था कि इस बजट में आम जनता के लिए काफी कुछ लुभाना होगा। इसके अलावा वहीं प्रदेश के आम बजट को सत्ता पक्ष के लोग द्वारा अबतक का सबसे अच्छा बजट बताया जा रहा है।

बजट पर जनप्रतिनिधियों की राय

भाजपा महिला प्रकोष्ठ की वरिष्ठ नेता कृष्णा पांडेय ने कहा कि आम बजट में सभी वर्गों का ख्याल रखा गया है। गांव में रहने वाले लोगों के लिए बिना ब्याज के ऋण की सुविधा दी गई। मुख्यमंत्री उद्यमी विकास योजना के तहत पांच लाख तक ब्याजमुक्त कर्ज देने की व्यवस्था है। यह यूपी के इतिहास का सबसे बड़ा बजट है। कहा कि अयोध्या, काशी, मथुरा, वृन्दावन व विंध्याचल के लिए बजट में स्थान है। प्रयागराज कुम्भ के लिए अभी से बजट में व्यवस्था कर दी है। बजट में किसान, मजदूर से लेकर हर तबके का ध्यान रखा गया है।

यह भी पढ़े - बायोमेट्रिक हाजिरी को लेकर सरकार ने मांगा स्पष्टीकरण, उच्च शिक्षा अधिकारी ने भेजा महाविद्यालयों को पत्र

सपा के पूर्व नेता प्रतिपक्ष व राष्ट्रीय सचिव रामगोविंद चौधरी ने बजट पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि वित्त मंत्री द्वारा प्रस्तुत बजट निराशा जनक है। इस बजट में गरीब, दलित अल्पसंख्यक, पिछड़ा और बेरोजगारों के बेहतरी के लिए कुछ नहीं है। बजट से स्पष्ट हो रहा हैं कि सरकार का विकास से दूर दूर तक कोई मतलब नही है। सरकार के पास नई योजना तक नहीं है। सिर्फ धार्मिक भावनाओं के आधार पर भाजपा सरकार वोट का खेल खेल रही है। जनता की बेहतरी से इस सरकार का कोई वास्ता नहीं है। C.P.I. रिपोर्ट 2023 के मुद्रास्फीति दर 5.69 से देखें तो यह बजट काफी कम है।

सपा के विधायक और जिलाध्यक्ष संग्राम सिंह यादव ने कहा कि उत्तर पद्रेश का यह बजट जनक है। प्रदेश के युवा, गरीब, किसान, दलित, पिछड़ा, अल्पसंख्यक और बेरोजगार किसी भी वर्ग के लिए बजट में कुछ नहीं है। ये बजट सिर्फ सरकारी आंकड़ों का मकड़जाल है। इससे प्रदेश के आम लोगों को कोई राहत मिलने वाली नहीं हैं।

एआईएमआईएम पार्टी के प्रदेश महासचिव मोहम्मद शमीम खान ने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार का यह बजट निराशाजनक है। गरीब, नौजवान, बेरोजगार और किसान के लिए कोई स्थान नहीं है। इससे पूंजीवाद को बढ़ावा मिलेगा। मध्यम और खुदरा व्यापारी लाभ से वंचित हो जाएंगे। पूर्वांचल और खासकर बलिया जनपद के लिए कोई योजना नहीं है। आनन-फानन में तैयार किए गए इस बजट पर सरकार को पुनर्विचार करने की जरूरत है

Ballia Tak on WhatsApp

Comments

Post A Comment

Popular Posts