बलिया न्यूज : किसी ने परीक्षा पास करने के लिए कविता लिखी तो किसी ने शादी का हवाला दिया

On

यूपी बोर्ड परीक्षा पास करने के लिए परीक्षार्थी नए-नए प्रयोग करते नजर आ रहे हैं। इसका नजारा मूल्यांकन के दौरान दिख रहा है

बलिया। मास्टर जी मुझे पास जरूर करें, अगर मैं फेल हो गया तो मेरी गर्लफ्रेंड मुझे छोड़ देगी। यह कोई डायलॉग नहीं है बल्कि यूपी बोर्ड की उत्तर पुस्तिकाओं में छात्रों ने परीक्षार्थियों से इस तरह से पास होने की मार्मिक अपील की है. किसी ने कविता लिखकर परीक्षार्थियों से पास होने की अपील की है तो किसी ने पिता की बीमारी और शादी टूटने की बात लिखी है।

यूपी बोर्ड परीक्षा पास करने के लिए परीक्षार्थी नए-नए प्रयोग करते नजर आ रहे हैं। इसका नजारा मूल्यांकन के दौरान दिख रहा है। जिले के चारों मूल्यांकन केंद्रों पर जांच की जा रही हाईस्कूल व इंटरमीडिएट की कॉपियों में कई परीक्षार्थियों ने सर्वाधिक अंक देने की मार्मिक अपील भी की है. इसके लिए कुछ ने कविता का सहारा लिया है तो कुछ ने अन्य कारणों का हवाला देकर गुरुजी से पास करने की गुहार लगाई है।

मेरी नाव वहीं डूब गई...

बुधवार को मूल्यांकन केंद्र में एक परीक्षक को ऐसी उत्तर पुस्तिका मिली, जिसमें एक छात्र की उत्तर पुस्तिका में लिखा था कि केमिस्ट्री ने हमें लूटा, फिजिक्स में दम कहां था, जहां शराब कम थी, वहां मेरी नाव डूब गई.

यह भी पढ़े - बलिया पहुंचे मंत्री एके शर्मा ने किया कई विकास कार्यो का लोकार्पण और शिलान्यास, बोले- ताजा हो गई बचपन की यादें

अगर गुरुजी पास नहीं हुए तो शादी टूट जाएगी।

एक छात्र ने उत्तर पुस्तिका में लिखा है कि वह कई बार गुरुजी को फेल कर चुका है। उम्र अधिक होने के कारण घर वालों ने शादी तय कर दी है। अगर अब भी असफल रहा तो शादी भी टूट जाएगी। इसलिए पास जरूर करें।

बीमार होने का नाटक करना

परीक्षार्थियों ने बताया कि उत्तर पुस्तिका में रुपए तक निकल रहे हैं। कोई पैसे देकर पास होने की उम्मीद जता रहा है तो कोई अपने माता-पिता को बीमार बताकर पास होने की अपील कर रहा है। एक छात्र ने उत्तर पुस्तिका में लिखा है कि उसके पिता काफी समय से बीमार हैं, अगर वह फेल हो जाता है तो उसके पिता को दुख होगा। गुरुजी, कृपया परीक्षा पास करें।

 छात्र कुछ भी लिखें

जिला विद्यालय निरीक्षक रमेश कुमार सिंह का कहना है कि छात्र उत्तर पुस्तिका में कुछ भी लिख देते हैं। पहले भी उत्तर पुस्तिका में इस तरह लिखा पाया गया था। लेकिन जो कोई भी यह मानता है कि इस तरह की हार्दिक दलील को नजरअंदाज किया जाएगा, वह गलत है।

अब तक एक लाख 86 हजार उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन किया जा चुका है

बलिया। जिले के चारों मूल्यांकन केंद्रों पर अब तक एक लाख 86 हजार 884 उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन किया जा चुका है। बुधवार को चारों केंद्रों पर 57048 उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन किया गया। जिला विद्यालय निरीक्षक रमेश सिंह ने बताया कि बुधवार को मूल्यांकन कार्य में 1256 परीक्षक व 77 डीएचई अनुपस्थित रहे. जबकि बुधवार को राजकीय इंटर कॉलेज में 11245, कुंवर सिंह इंटर कॉलेज में 9660, राजकीय कन्या इंटर कॉलेज में 19868 और 16256 उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन किया गया.

Ballia Tak on WhatsApp
Tags

Comments

Post A Comment

ताजा समाचार

फर्रुखाबाद: गुरु के बिना कल्याण नहींl नीरज शास्त्री फर्रुखाबाद: गुरु के बिना कल्याण नहींl नीरज शास्त्री
फर्रुखाबाद: आज श्रीमद्भागवत कथा के तीसरे दिन  आयोजन विकास खंड कमालगंज के अंतर्गत चुरसाई गांव में माखनलाल राजपूत के आवास...
बस्ती: मास्टर ट्रेनर निर्वाचन के कार्य को लें गंभीरता पूर्वक, ना रहे ओवर कॉन्फिडेंस में - मंडलायुक्त
बिजनौर: प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में फसलों का बीमा कराया
सीतापुर: दलित महिलाओं के साथ हो रहे दुष्कर्मों पर लगे पूर्णतया प्रतिबंध
बहराइच: निर्वाचन दायित्वों के लिए प्रशिक्षित किये गये अधिकारी
बदायूं: कुल की फातिहा के साथ दो रोज़ा उर्स ए फरीदी संपन्न
लखनऊ: राज्यपाल आनंदी बेन पटेल ने दिलाई शपथ