Ballia News: एएलएस एंबुलेंस सेवा से मरीजों को मिलेगी बेहतर सुविधा: सिंह

On

Ballia News: परिवहन मंत्री ने एएलएस एंबुलेंस सेवा को हरी दिखाकर किया रवाना

लखनऊ। डॉ.राम मनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान परिसर में गुरूवार को बलिया के चन्द्र शेखर अस्पताल के लिए एएलएस एंबुलेंस सेवा का लोकार्पण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमें बतौर मुख्य अतिथि के रूप में शामिल परिवहन राज्य मंत्री दया शंकर सिंह एवं विशिष्ट अतिथि के रूप में मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्र,आरएमएल निदेशक प्रो सोनिया नित्यानंद व अन्य गणमान्य लोगों की उपस्थिति में एएलएस एंबुलेंस सेवा को हरी झडी दिखाकर रवाना किया गया ।

जिसे सर्व प्रथम विवि विधान से वैदिक मंत्रोच्चारण के साथ परिवहन मंत्री द्वारा नारियल को फोड़ने के उपरांत एंबुलेंस सेवा की रवानगी की गई। इसी क्रम में दया शंकर सिंह ने संबोधित करते हुए कहा कि चन्द्र शेखर के सपनों साकार रूप देने के कार्य क ो प्रधानमंत्री एवं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के दिशा निर्देशन में किया जा रहा। उन्होंने कहा कि बलिया में चिकित्सा सुविधाओं की बात करें तो पहले बहुत बड़ा अभाव था ।

यह सुविधा शुरू होने से मरीजों को इलाज के लिए लंबी दूरी नहीं तय करनी पड़ेगी। दया शंकर सिंह ने कहा चन्द्र शेखर अस्पताल एवं कैंसर इंस्टीट्यूट के खुल जाने से इब्राहिम पट्टी के मरीजों को चिकित्सा सुविधाओं को बेहतर किया जा रहा। बलिया में चन्द्र शेखर अस्पताल खुल जाने से कैंसर मरीजों को घर के समीप वह सारी सुविधाएं मिलेगी जिससे उन्हें दूरस्थ यात्रा नहीं तय करनी पड़ेगी। वहीं दुर्गा शंकर मिश्र ने आरएमएल संस्थान को एनएबीएच में शामिल होने की बधाई देते हुए कहा कि यह संस्थान की बड़ी उपलब्धि है । डॉक्टरों ने अपने संस्थान के प्रति बेहतर योगदान दिया है जिससे संस्थान निरंतर आगे बढ़ रहा है। इसी क्रम में संस्थान निदेशक प्रो.सोनिया नित्यानंद ने सभी अतिथियों के स्वागत संबोधन में कहा कि एचएन शर्मा एवं हमदर्द नेशनल फांउडेशन व एसके गुप्ता द्वारा एंबुलेंस समर्पित करने के लिए आभार प्रकट किया ।

कार्यक्रम में दया शकंर सिह,दुर्गाशकंर मिश्र,चन्द्र शेखर अस्पताल के प्रभारी डॉ.संजय सिंह,प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा आलोक कुमार,प्रो.सोनिया नित्यानंद,सीएमएस डॉ.राजन भटनागर एमएस डॉ विक्रम सिंह,डॉ.एपी जैन,निमिषा समेत संस्थान के चिकित्सकगण व अन्य गणमान्य लोग मौके पर उपस्थित रहे। इसके तत्पश्चात निदेशक ने एनएबीएच उपलब्धि के बारे विस्तृत जानकारी देते हुए कहा कि अस्पतालों और स्वास्थ्य सेवा प्रदाताओं के लिए राष्ट्रीय प्रत्यायन बोर्ड भारत की गुणवत्ता परिषद का एक घटक बोर्ड है। जिसे स्वास्थ्य सेवा संगठनों के लिए मान्यता कार्यक्रम स्थापित करने और संचालित करने के लिए 2005 में स्थापित किया गया था। यह वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय के तहत एक स्वायत्त निकाय है।

यह भी पढ़े - Ballia Crime News: बलिया में मंदिर के पुजारी का झाड़ी में मिला शव, हत्या की आशंका

एनएबीएच के पास स्वास्थ्य सेवा मान्यता की प्रक्रिया में शामिल समान संगठनों के साथ अंतर्राष्ट्रीय संबंध भी हैं। इंटरनेशनल सोसाइटी फॉर क्वालिटी इन हेल्थकेयर इंटरनेशनल सोसाइटी फॉर क्वालिटी इन हेल्थकेयर और एशियन सोसाइटी फॉर क्वालिटी इन हेल्थकेयर की प्रत्यायन परिषद द्वारा प्रदान किया जाता है। उन्होंने कहा कि 2019 में एनएबीएच में शामिल होने के लिए पंजीकृत कराया गया था। एनएबीएच की श्रेणी में आने के लिए कई सारे मानकों को पूरा करना होता है।

जिसमें संस्थान समस्त व्यवस्थाएं देखी व परखी जाती है तब जाकर एचएबीएच की उपाधि प्रदान की जाती है। प्रो सोनिया नित्यानंद ने कहा कि नर्सिंग के लिए निरंतर प्रशिक्षण और शिक्षा कार्यक्रम आयोजित करने के साथ पैरामेडिकल स्टाफ और रेजिडेंट्स,मजबूत,रोगी शिकायतों के निवारण एनएबीएच मानकों के अनुसार सभी बुनियादी ढांचे संबंधी, कानूनी, सामग्री प्रबंधन पूरा करने पर यह उपलब्धि दी जाती है।

Ballia Tak on WhatsApp

Comments

Post A Comment

ताजा समाचार