Ballia News: आठ वर्ष बीत गए, नहीं पूरा हो सका सुरक्षा बांध का काम

On

Demo Image

सिताबदियारा क्षेत्र के चार ग्राम पंचायतों के रहवासियों को बाढ़ से बचाने क लिए करीब आठ वर्ष पूर्व यूपी और बिहार की सरकारों ने आपसी सहमति से सुरक्षा बांध बनाने का निर्णय किया था, इसमें बिहार के हिस्से में करीब चार किमी और यूपी के हिस्से करीब 3350 मीटर बंधा का निर्माण होना था। बिहार सरकार ने अपने हिस्से के बांध का निर्माण वर्ष 2018 में ही 8599.30 करोड़ रुपये की लागत से पूरा कर लिया, लेकिन यूपी की सीमा में बनने वाला सुरक्षा बांध जो गंगा किनारे 2300 मीटर व सरयू नदी के किनारे 1050 मीटर में निर्माण होना था, जो अभी तक अधूरा है।

हालांकि प्रदेश सरकार ने वित्तीय वर्ष 2017-18 के मार्च माह में दो करोड़ रुपये अवमुक्त किए, जिससे वर्ष 2018 में ही गंगा किनारे करीब 650 मीटर तक सुरक्षा बांध का निर्माण कराकर धन के अभाव में बंदकर दिया गया। पुनः सरकार द्वारा कई किस्तों में करीब 25 करोड़ रुपये स्वीकृति किए गए, इससे करीब 65 प्रतिशत निर्माण कार्य हुआ। उसके बाद से गंगा किनारे कुछ कार्य हुआ, लेकिन सरयू नदी के किनारे जहां से निर्माण कार्य बंद हुआ है, वहीं ज्यो का त्यों बंद पड़ा है।

यह भी पढ़े - बलिया : प्रधान, बीडीसी और ग्राम पंचायत सदस्य के रिक्त पदों पर चुनाव की तिथि घोषित

इस बांध के बन जाने से जयप्रका नारायण के पैतृक गांव सिताबदियारा, कोडरहा नौबरार(जयप्रकाश नगर), इब्राहिमाबाद नौबरार(अठगांवा) और बिहार के सारण(छपरा) जनपद का सिताबदियारा पंचायत, प्रभुनाथ नगर के करीब 50 हजार की आबादी को बाढ़ से राहत मिल जाएगी।

Ballia Tak on WhatsApp

Comments

Post A Comment

Popular Posts

ताजा समाचार

बलिया : सेल्फी के चक्कर में रेल पुल से सरयू नदी में गिरी किशोरी, सन्न रह गई सहेली
फंदे पर लटका मिला हेड मास्टर का शव, मचा हड़कम्प
बलिया रेलवे स्टेशन पर दर्दनाक हादसा, ट्रेन की चपेट में आने से युवक की मौत ; युवती गंभीर
Kanpur: कोर्ट के आदेश पर कंपनी और निदेशकों पर दर्ज हुई धोखाधड़ी की रिपोर्ट; महिला को उठाना पड़ा था इतने करोड़ रुपये का नुकसान...
UP विधानसभा उपचुनाव: मुख्यमंत्री योगी ने मंत्रिमंडल के सहयोगियों के साथ की बैठक, इन मुद्दों पर हुई चर्चा
Kanpur: केस्को की टीम ने संविदा कर्मी के घर पर मारा छापा; बरामद हुए बिजली के नए व पुराने मीटर
बाढ़ के लिहाज से कानपुर अति संवेदनशील; आपदा प्रबंधन टीम करेगी मॉक एक्सरसाइज, हेलीकॉप्टर से बचाव व राहत का होगा पूर्वाभ्यास