Ballia News : एसडीएम के औचक निरीक्षण में खुली सीएचसी की पोल, पकड़ी गई बाहर की दवाएं

On

सिकंदरपुर, बलिया। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सिकंदरपुर पर व्याप्त दलाल राज और अन्य शिकायतों पर गुरुवार की रात एसडीएम के औचक निरीक्षण ने मुहर लगा दी। रात नौ बजे सीएचसी पहुंचे उपजिलाधिकारी ने रंगे हाथों न सिर्फ बाहर की दवाएं पकड़ी, अपितु प्रसव रजिस्टर में दर्ज तीन मरीजों के सापेक्ष एक प्रसूता ही मौके पर मिली। यह देख एसडीएम भड़क उठे और संबंधित डॉक्टर समेत अधीक्षक को कड़ी फटकार लगाई। उधर एसडीएम रवि कुमार पासवान के अचानक हॉस्पिटल पहुंचने से कर्मचारियों और दलालों में हड़कंप मच गया। पिछले काफी दिनो से सीएचसी की अव्यस्था को लेकर लोग विरोध दर्ज करा रहे थे।

पिछले दिनों ही प्रसुताओ को बाहर की करीब आठ हजार रुपए की दवा लिखने को लेकर काफी हंगामा भी हुआ था। इस बाबत किसी ने जिलाधिकारी से शिकायत भी किया था। उच्चाधिकारी के निर्देश पर गुरुवार की रात एसडीएम पूरी टीम के साथ सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंच गए। इस दौरान  इमरजेंसी में लगे ड्यूटी डॉक्टर से आवश्यक जानकारी लेने के बाद प्रसव केंद्र में पहुंचे एसडीएम उस समय आवाक रह गए, जब पंजीकरण पुस्तिका में दर्ज तीन प्रसूताओं की जगह केवल एक प्रसूता ही मौके पर मौजूद मिली। बता दें कि मुस्कान, प्रियंका और शहाना का प्रसव गुरुवार को ही कराया गया था। पर मौके पर सिर्फ शहाना ही मौजूद थी। जबकि सरकार ने प्रसव के 24 घंटे बाद ही डिस्चार्ज करने का निर्देश दे रखा है। इस दौरान शहाना के परिजनों ने बताया कि अस्पताल मामूली दवाएं ही उपलब्ध कराई गई हैं। प्रसव के लिए सारी दवा बाहर से लेकर आना पड़ा। इसी दौरान शहाना के परिवारीजन बाहर से दवा लेकर पहुंच गए जिसे देख एसडीएम भड़क उठे।

उन्होंने महिला चिकित्सक डॉ रूबी की लिखी दवाओं की पर्ची और दवा पर जमकर फटकार लगाई। कहा कि फर्जी नामांकन दिखा कर शासन की आंख में धूल झोंका जा रहा है। यही नहीं परिजनों ने प्रसव के नाम पर हो रही धन उगाही का भी आरोप लगाया। एसडीएम ने अधीक्षक को इसकी जांच कर रिपोर्ट देने का निर्देश दिया। इस संबंध में प्रभारी अधीक्षक डा ब्यास कुमार ने बताया कि अस्पताल में औचक निरीक्षण के दौरान उपजिलाधिकारी द्वारा बाहरी दवाएं पकड़ी गई हैं, जबकि अस्पताल में पर्याप्त दवा मौजूद है। उधर एसडीएम रवि कुमार पासवान ने बताया कि आए दिन सीएचसी की शिकायतें मिल रही हैं। कुछ दवा कारोबारियों के साथ मिलकर चिकित्सक स्वहित में बाहर की दवाएं लिख रहे हैं, जिसे रंगे हाथो पकड़ा गया है। इसकी विस्तृत रिपोर्ट जिलाधिकारी को आवश्यक कार्रवाई हेतु अग्रेषित की जायेगी।

Ballia Tak on WhatsApp

Comments

Post A Comment