बलिया : इन्फ्लुएंजा के प्रकोप को देखते हुए जिला प्रशासन सतर्क, अस्पतालों में बढ़ी सतर्कता

On

बलिया में नए इन्फ्लूएंजा वायरस एच3एन2 का खतरा बढ़ गया है। इसे देखते हुए जिला अस्पताल से लेकर सीएचसी पीएचसी पर चौकसी बढ़ा दी गई है।

बलिया में नए इन्फ्लूएंजा वायरस एच3एन2 का खतरा बढ़ गया है। इसे देखते हुए जिला अस्पताल से लेकर सीएचसी पीएचसी पर चौकसी बढ़ा दी गई है। बदलते मौसम में डॉक्टर ने मरीजों को सावधानी बरतने की सलाह दे रहे हैं।

बता दें कि अस्पताल के ओपीडी व वार्डों में चिकित्सक-कर्मचारी विशेष सतर्कता बरत रहे हैं और मरीजों को कोविड नियमों का पालन करने की हिदायत भी दे रहे हैं. जिला अस्पताल व बसंतपुर सीएचसी में 10 बेड पर ऑक्सीजन प्लांट, ऑक्सीजन सिलेंडर व अन्य संसाधन कोविड काल में तैयार हैं।

बीमारी के प्रकोप से निपटने के लिए आरटीपीसीआर जांचों की संख्या बढ़ाई गई है। प्रतिदिन 100 से 150 लोगों की जांच की जा रही है। अभी तक किसी की रिपोर्ट पॉजिटिव नहीं आई है। डॉक्टर भी वायरस से बचाव के लिए मास्क बनाने और दूरी बनाने, कुछ देर हाथ धोने और ज्यादा सावधानी बरतने की सलाह दे रहे हैं। लक्षण पाए जाने पर डॉक्टर तुरंत सलाह लेकर ही दवा का इस्तेमाल करने को कह रहे हैं।

अस्पताल के फिजीशियन डॉ. आरके झा ने बताया कि एक सप्ताह से अधिक खांसी या बुखार वाले मरीजों का ब्लड टेस्ट व छाती का एक्स-रे करवाना जरूरी है. है। इससे पता चलता है कि कितना संक्रमण है। उसी के अनुसार दवा दी जाती है। उन्होंने लोगों को सर्दी, बुखार होने पर अन्य सदस्यों से दूर रहने की सलाह दी। डॉक्टर से सलाह लेने के बाद ही दवा लें।

यह भी पढ़े - Annual Function In Primary School of Ballia : बच्चों ने मचाया धमाल, अनोखी रही 'सुपर मां' प्रतियोगिता

जिला अस्पताल के सीएमएस डॉ. दिवाकर सिंह का कहना है कि इन्फ्लूएंजा वायरस के खतरे को देखते हुए जिला अस्पताल में सतर्कता बरती जा रही है. मेडिकल वार्ड के बगल में 10 बेड का विशेष इन्फ्लुएंजा वार्ड बनाया गया है। इसमें मरीज के इलाज के सभी संसाधन मौजूद हैं। साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखा जा रहा है।

वहीं मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. जयंत कुमार के अनुसार जिले के सभी सीएचसी, पीएचसी पर इन्फ्लुएंजा वायरस को देखते हुए संसाधन उपलब्ध हैं. लक्षण वाले मरीजों के लिए दवाएं प्रचुर मात्रा में उपलब्ध हैं। कोविड काल में एल1, एल2 अस्पतालों में मौजूद सभी संसाधनों को बहाल कर दिया गया है. ऑक्सीजन की पर्याप्त सुविधा उपलब्ध है। RTPCR टेस्ट की संख्या बढ़ाई गई है। जरूरत पड़ी तो रोडवेज और रेलवे स्टेशनों पर भी जांच की जाएगी।

Ballia Tak on WhatsApp
Tags

Comments

Post A Comment

ताजा समाचार

खनन से भरी ट्रैक्टर ट्राली ने टेंपो चालक को कुचला, मौके पर दर्दनाक मौत, लगाया जाम खनन से भरी ट्रैक्टर ट्राली ने टेंपो चालक को कुचला, मौके पर दर्दनाक मौत, लगाया जाम
रुड़की: खनन से भरी एक ट्रैक्टर ट्राली ने टेंपो में टक्कर मार दी। टेंपो में टक्कर लगने से ट्रैक्टर ट्राली...
नागेंद्र शुक्ला एडवोकेट की पुत्री करिश्मा शुक्ला बीटेक प्रथम श्रेणी में उत्तीर्ण
महिला मोर्चा की प्रवक्ता ने नारी शक्ति वन्दन के तहत काव्य सम्मेलन का किया आयोजन
छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मंडल 12वीं बोर्ड की परीक्षा आज से शुरू
जिले में दोहरे हत्याकांड का आरोपी गिरफ्तार
Firozabad News: पुलिस पर हमले के दो आरोपी मुठभेड़ में गिरफ्तार
Yogi Cabinet Expansion: 24 घंटे में हो सकता योगी कैबिनेट का विस्तार, देखिए संभावित मंत्रियों की लिस्ट