बलिया: फर्जी रजिस्ट्री मामले में बलिया पुलिस की नींद उड़ी, भूमाफियाओं की खंगाली जा रही कुंडली, कई राडार पर!

On

Ballia Samachar: बलिया में फर्जी रजिस्ट्री कराने के मामले में अब पुलिस भूमाफियाओं की कुंडली खंगालने में जुट गई है.

Ballia News: बलिया में फर्जी रजिस्ट्री कराने के मामले में अब पुलिस भूमाफियाओं की कुंडली खंगालने में जुट गई है. 5 साल पुराने मामले की शिकायत मुख्यमंत्री से करने के बाद पुलिस अब गंभीर नजर आ रही है. क्योंकि 5 साल पुराने मामले में जांच के बाद दर्ज मामला दर्ज करने के लिए पीड़िता ने मुख्यमंत्री से गैंगस्टर आदि जैसे दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी.

बताया जा रहा है कि 5 साल पहले सितंबर 2019 में तत्कालीन सदर एसडीएम ने जिलाधिकारी को पत्र भेजकर बताया था कि सदर रजिस्ट्री कार्यालय में बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार हो रहा है, जिसकी जांच की जानी चाहिए. एसडीएम के पत्र पर डीएम ने तीन सदस्यीय जांच टीम गठित की थी। रसड़ा के तत्कालीन आईएएस और एसडीएम ने जब जांच की तो कई चौंकाने वाले दस्तावेज मिले.

यह भी पढ़े - एक साथ दो युवकों की मौत से रो पड़ा बलिया का यह गांव

वहीं, जांच के बाद 13 निबंधन अधिकारियों समेत 30 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है. दस्तावेजों की फॉरेंसिक जांच की गई। इसके बावजूद अब तक कई व्यवसायी इसे लेकर तहसील और कोर्ट के चक्कर लगा रहे हैं और फर्जी दस्तावेजों के आधार पर नाम बदलने का सिलसिला आज भी जारी है.

पीड़ित नगर क्षेत्र के हीरालाल हनुमानगंज निवासी लक्ष्मण प्रसाद लाल बहादुर ने सीएम को शिकायती पत्र देकर बताया कि 5 वर्ष पूर्व फर्जी दस्तावेजों के आधार पर नामांतरण के मामले में जांच के बाद मामला दर्ज किया गया था. भू-माफियाओं की पहचान कर ली गई है। इनके खिलाफ गैंगस्टर की कार्रवाई होनी चाहिए।

नगर दंडाधिकारी एसएन वैभव पाण्डेय ने बताया कि फरियादी द्वारा चिन्हित दो भू-माफियाओं के खिलाफ गैंगेस्टर कार्रवाई की मांग की गयी है. इस मामले में भू-माफिया के आपराधिक इतिहास से अवगत कराते हुए प्रभारी कोतवाली नगर को कार्रवाई के निर्देश दिये गये हैं.

Ballia Tak on WhatsApp

Comments

Post A Comment