बलिया : वरासत में लापरवाही पड़ी भारी, लेखपाल सस्पेंड

On

Ballia News : जिलाधिकारी रविंद्र कुमार ने सभी उप जिलाधिकारियों को निर्देशित किया है कि किसी भी हाल में वरासत संबंधित प्रकरण लंबित नहीं होने चाहिए और सभी का निस्तारण तय समय सीमा के अंदर होना चाहिए। इसी के क्रम में तहसील बलिया के उप जिलाधिकारी आत्रेय मिश्रा ने वरासत संबंधी मामले में एक लेखपाल को निलंबित किया है।

मामला पूजा पुत्री स्व. हरिलाल (निवासी : नूरपुर, तहसील व जिला बलिया) का  है, जिनके द्वारा 10 जनवरी को प्रार्थना पत्र प्रस्तुत कर शिकायत की गयी थी कि मौजा नूरपुर के आराजी नं. 696 मि. व 698 मि. पर दर्ज उनकी माता की मृत्यु के बाद आवेदन पत्र प्रस्तुत करने पर हल्का लेखपाल द्वारा वरासत की कार्यवाही भी नहीं की गयी और गलत आख्या लगाकर प्रार्थिनी का आवेदन पत्र भी निस्तारित करा दिया गया।

यह भी पढ़े - Banda: कलेक्ट्रेट सभागार में सम्मान समारोह का हुआ आयोजन; जिलाधिकारी ने खिलाड़ियों को किया सम्मानित

उक्त के सम्बन्ध में राजस्व निरीक्षक हल्दी से जांच करायी गयी, जिसमें उल्लिखित किया गया है, मौजा नूरपुर के खतौनी में गाटा सं. 698, 696 पर रमुना देवी पुत्री विश्वनाथ निवासी नूरपुर का नाम दर्ज है। प्रार्थिनी द्वारा रमना देवी की मृत्यु के उपरान्त वरारात हेतु आनलाईन आवेदन किया गया, परन्तु हल्का लेखपाल द्वारा न ही वरासत किया गया, न ही विवादित प्रकरण हल कराया गया, जिसके कारण वरासत का प्रकरण लम्बित रह गया।

उपरोक्त तथ्यों से स्पष्ट है कि शिवशंकर उपाध्याय, क्षेत्रीय लेखपाल नूरपुर ने आवेदिका द्वारा प्रस्तुत आवेदन पत्र को बिना कारण लम्बित रखा गया, जो उनके द्वारा प्रकरण के निस्तारण में घोर लापरवाही का द्योतक है। ऐसे में शिवशंकर उपाध्याय, क्षेत्रीय लेखपाल नूरपुर के विरुद्ध उपरोक्त आरोपों के आधार पर विभागीय अनुशासनात्मक कार्यवाही संस्थित करते हुए निलम्बित किया जाता है।

Ballia Tak on WhatsApp

Comments

Post A Comment

Popular Posts