बलिया में आग से 500 एकड़ गेहूं की फसल जली: दमकल की गाड़ी का पंप खराब, आग बुझाने में लगा समय

On

बलिया के चांद दियार ग्राम पंचायत के बकुलहा दियार में सोमवार को अज्ञात कारणों से 500 एकड़ गेहूं के डंठल और अनाज को आग की चपेट में ले लिया.

बलिया के चांद दियार ग्राम पंचायत के बकुलहा दियार में सोमवार को अज्ञात कारणों से 500 एकड़ गेहूं के डंठल और अनाज को आग की चपेट में ले लिया. इस आग से किसानों के अरमान जलकर राख हो गए, जिससे उनकी उम्मीदों पर भी पानी फिर गया। हारे हुए किसान अपनी फसल बचाने के लिए व्यर्थ ही चिल्लाए, लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी। अधसीझुआ के पास के एक खेत में सोमवार को अज्ञात कारणों से पकी गेहूं की फसल में अचानक आग लग गई।  

आग तेजी से पूरे इलाके में फैल गई। इन्हें अपनी जद में लेकर करीब 500 एकड़ फसल व डंठल राख में तब्दील हो गए। इसमें सुरेंद्र यादव बकुलहा, पंचानन ठाकुर, विक्रम यादव, चितेश्वर यादव बकुलहा, एंटी यादव गुमानी के डेरा, हंस लाल चौधरी, त्रिलोकी चौधरी टोला फतेराई, राजेंद्र यादव बकुलहा, दीनानाथ यादव, नागेंद्र यादव टोला और शिवन राय शामिल हैं। समूह। साथ ही करीब 100 उत्पादकों की 500 एकड़ से अधिक गेहूं की फसल को नष्ट कर दिया।  

यह भी पढ़े - बलिया : घर से गायब किशोरी का गंगा नदी में उतराया मिला शव, ऐसे हुई शिनाख्त

जब पहुंचे तो दमकल विभाग की गाड़ी किसी काम की नहीं थी। उनकी पल्स कमजोर थी। वह नाली से पानी लाकर आग बुझाने का काम कर रही थी। इससे आग बुझाने में काफी देरी हुई। हालांकि, चांद दियार चौकी पुलिस अधिकारी और आसपास के गांवों के निवासी आग बुझाने में जुटे हुए हैं। हादसे की खबर लगते ही विधायक जयप्रकाश मौके पर पहुंचे। क्षेत्रीय लेखपाल राजीव गिरी, चौकी प्रभारी चंद प्रिय गुरु प्रसाद सिंह सहित अन्य पुलिस अधिकारियों ने स्थान पर संपर्क किया।  

बैरिया विधायक जयप्रकाश आंचल के मुताबिक आग की घटनाओं से निपटने के लिए सरकार ठीक से तैयार नहीं है. इब्राहिमाबाद में फायर स्टेशन की दो कारें बेकार हैं। दमकल कर्मियों ने पूरी कोशिश की, लेकिन वे आग पर काबू नहीं पा सके। सरकार के लापरवाह व्यवहार से आज निर्माताओं को लाखों रुपए का चूना लगा है।।

Ballia Tak on WhatsApp
Tags

Comments

Post A Comment