Mukhtar Ansari: पकड़ा गया मुख्तार का शूटर, मऊ पुलिस ने किया गिरफ्तार

On

मऊ, आजमगढ़। उत्तर प्रदेश में मऊ जनपद पुलिस को शुक्रवार को उस समय बड़ी सफलता मिली, जब उसने 10 वर्ष पूर्व जनपद में हुए बहुचर्चित मन्ना सिंह हत्याकांड के गवाह राम सिंह मौर्य सरकारी गाना उत्तर प्रदेश पुलिस के सिपाही सतीश सिंह की हत्याकांड में वांछित आरोपी को अवैध असलहे सहित गिरफ्तार कर लिया। 

इस बारे में जानकारी देते हुए अपर पुलिस अधीक्षक महेश कुमार अत्रि ने बताया कि एसओजी और सर्विलांस व थाना दक्षिणटोला पुलिस को उस समय अहम सफलता हाथ लगी जब गुरूवार देर रात चेकिंग के दौरान जरिये मुखबिर की सूचना पर मतलूपुर मोड़ के पास से मुख्तार अंसारी (आई0एस0 191 का सरगना) गिरोह का नजदीकी व मन्ना सिंह हत्याकांड में गवाह राम सिंह मौर्या व गनर की हत्या मामले में सह अभियुक्त एवं मु0अ0सं0 891/10 धारा 3(1) गैगस्टर एक्ट में फरार (2010 से) वांछित इनामिया (25 हजार) शातिर अपराधी/शूटर रामदुलारे उर्फ दुलारे पुत्र बेचू हरिजन निवासी पवरा थाना सकलडीहा जनपद चन्दौली को गिरफ्तार किया गया।

यह भी पढ़े - पेपर लीक करने वाली कंपनी की संपत्ति की वसूली करे यूपी सरकार : अखिलेश

उसके कब्जे से एक अवैध पिस्टल व दो अदद जिंदा कारतूस 32 बोर बरामद किया गया। उल्लेखनीय है कि चर्चित मन्ना सिंह हत्याकांड में गवाह राम सिंह मौर्या निवासी फत्तेपुर थाना रानीपुर व गनर सतीश कुमार उत्तर प्रदेश पुलिस जवान की वर्ष 2010 में हत्या कर दी गयी थी। जिसके सम्बन्ध में थाना दक्षिणटोला में मुख्तार अंसारी सहित उसके अन्य गुर्गों के विरुद्ध मु0अ0सं0 399/10 धारा 302,307,120बी,147,148,149,34 भादवि, 7 सीएलए एक्ट व 25 आयुद्ध अधि0 के अर्न्तगत अभियोग पंजीकृत किया गया था। 

जिसमें उक्त रामदुलारे सह अभियुक्त था। तत्पश्चात मुख्तार अंसारी सहित गिरोह के सदस्य रामदुलारे सहित अन्य सदस्यों के विरुद्ध गैंगस्टर एक्ट के कार्यवाही किये जाने के क्रम में मु0अ0सं0 891/10 धारा 3(1) गैगस्टर एक्ट पंजीकृत किया गया। वर्ष 2010 से ही उक्त अभियोग में वांछित अभियुक्त रामदुलारे फरार चल रहा था, जिसके विरुद्ध पूर्व में 25 हजार रुपये का पुरस्कार घोषित किया गया था। यह वांछित इनामी शातिर बदमाशा अब पुलिस की गिरफ्त में है।

Ballia Tak on WhatsApp

Comments

Post A Comment