अमरोहा में बहन के नाम कर दी जमीन तो भाई ने पिता की करवा दी हत्या, शूटर्स को दिए थे 15 हजार एडवांस, गिरफ्तार

On

अमरोहा: यूपी के अमरोहा में पांच दिन पहले बुजुर्ग अख्तर की शव का मिला था, पुलिस ने इस मामले का खुलासा कर दिया है. पुलिस के मुताबिक अख्तर की हत्या उसके बेटे सरफराज ने ही भाड़े के शूटरों से कराई थी. इसके लिए गांव के ही एक व्यक्ति को एडवांस 15 हजार रुपए दिए थे. बाकि रुपए काम होने के बाद देने का वादा किया था.

लेकिन बुजुर्ग की हत्या होते ही सबकी निगाहें बेटे पर ही थीं, क्योंकि पिता से जमीन को लेकर काफी समय से विवाद चल रहा था. बताया जा रहा था कि पिता ने कुछ जमीन बेटी के नाम कर दी है. जिससे वह परेशान था और घर में आए दिन विवाद होता था. फिलहाल पुलिस ने इस वारदात में संलिप्त तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है.

यह भी पढ़े - फार्मासिस्ट के भरोसे चल रहा ये प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र

जमीन बहन के नाम करने से पिता से नाराज था भाई

दरअसल, बछरायूं थाना इलाके के गांव चौखट निवासी 65 वर्षीय अख्तर का शव बुधवार की सुबह भगवानपुर भूड़ के पास खेत में मिला था. हाथ बंधे हुए थे, जबकि गर्दन पर रूमाल कसा था. पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया था. इस मामले में मृतक की बेटी ने अपने भाई पर ही पिता की हत्या का आरोप लगाते हुए पुलिस को तहरीर दी थी. जिसमें उसने कहा था कि पिता ने कुछ जमीन उसके नाम कर दी थी, जिसकी वजह से उसका भाई और पिता के बीच आए दिन झगड़ा और मारपीट होता था.

उसी ने पिता की हत्या की है. पुलिस ने मृतक के पुत्र सरफराज को हिरासत में ले लिया और पूछताछ शुरू की तो वह टूट गया और उसने हत्या की पूरी कहानी बता दी. उसने पुलिस से कहा कि घर की कुछ जमीन उसके पिता अख्तर ने विवाहित बहन फिरोना के नाम कर दी थी. जिसकी वजह से वह परेशान था और जमीन खुद के नाम पर करवाने का दबाव बनाता था. काफी कोशिशों के बावजूद भी उसके पिता ने उसके नाम जमीन नहीं की. इसी बात से नाराज होकर सरफराज ने अपने पिता को ही मारने की योजना बनाई.

तीन लाख में दी थी हत्या की सुपारी

आरोपी सरफराज ने योजना के तहत गांव के ही शौकीन उर्फ लूटर से हत्या करवाने की बात की. जिस पर शौकीन ने सरफराज को संभल के नखासा थाना इलाके के गांव हिशामपुर में रहने वाले शूटर नईम उर्फ लाला के बारे में बताया. इसके बाद सरफराज ने शूटर से बात करने के बाद 15 हजार रुपए एडवांस शौकीन को दे दिए. जबकि सौदा तीन लाख रुपए में हुआ था. सरफराज ने बाकी रकम काम हो जाने के बाद देने का वादा किया था.

जिसके बाद बीते मंगलवार को शौकीन दवाई लेने गए अख्तर को मिला और शराब पिलाई. नशे में होने पर उसने शूटर को भी मौके पर बुला लिया. जहां नशे में होने के कारण दोनों ने मिलकर अख्तर की गला दबाकर हत्या कर दी और शव को खेत में फेंककर चले गए. फिलहाल पुलिस ने तीनों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है.

Ballia Tak on WhatsApp

Comments

Post A Comment