Agra News: प्रेमिका से नफरत के कारण दी अस्पताल में बम की झूठी सूचना, बोला-मेरी गर्लफ्रेंड का नाम भी पुष्पांजलि था

On

आगरा: हरीपर्वत थाना क्षेत्र स्तिथ एक प्राइवेट अस्पताल में बम की सूचना से पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। थाना पुलिस ने रात भर अस्पताल में मॉकड्रिल के बहाने बम की तलाश की। घंटों बम की तलाश करने के बाद भी जब बम नहीं मिला तो पुलिस ने सूचना देने वाले नम्बर की लोकेशन निकाल आरोपी को हिरासत में ले लिया। आरोपी ने पुलिस को बताया कि वह अपनी प्रेमिका से नफरत करता है और इसीलिए उसने ऐसा किया। फिलहाल पुलिस ने युवक को हिरासत में लेकर छोड़ दिया। 

पुलिस ने बताया शनिवार रात को बीत पुष्पांजलि अस्पताल की हेल्पलाइन नंबर पर किसी व्यक्ति ने फोन करके बताया कि अस्पताल में बम है। अस्पताल प्रबंधन की ओर से पुलिस को जानकारी दी गई। पुलिस ने मामले की गंभीरता को देखते हुए और बम की सूचना पर अस्पताल में हड़बड़ाहट की स्तिथि  उत्पन्न हो इसके लिए पुलिस ने बम ढूंढने को मॉकड्रिल का नाम दिया।

यह भी पढ़े - फूड प्वाइजनिंग से दुल्हन की बहन समेत दर्जनों लोग बीमार

पुलिस ने अस्पताल में करीब 500 से अधिक लोगों की चेकिंग की। कई घन्टे तक सर्च ऑपरेशन चलाने के बाद भी अस्पताल में पुलिस को कुछ नहीं मिला। इसके बाद पुलिस ने बम की सूचना देने वाले व्यक्ति को ढूंढा। उसकी लोकेशन निकाली गई। कॉल करने वाले व्यक्ति की पहचान अलीगढ़ इगलास निवासी युवक मुकेश के रूप में हुई।

पुलिस ने आरोपी को हिरासत में लेकर उससे पूछताछ की। उसने बताया कि वो एक डिग्री कॉलेज में सफाई कर्मी है। 15 साल पहले उसके साथ कॉलेज में पुष्पांजलि नाम की एक लड़की पढ़ती थी। जिससे उसे एकतरफा प्यार था। जब वो लड़की उसे नहीं मिली तो उसे पुष्पांजलि नाम से नफरत हो गई। अस्पताल का नाम भी पुष्पांजलि है, इसीलिए उसने चिढ़ की वजह से ऐसा किया। पुलिस ने युवक को चेतावनी देकर छोड़ दिया। 

स्टेशन पर अस्पताल का बोर्ड देखकर ताजा हो गए पुराने जख्म
पुलिस पूछताछ में आरोपी ने बताया कि अलीगढ़ स्टेशन पर पुष्पांजलि अस्पताल का बोर्ड लगा है। वह रोजाना बोर्ड को देखता था तो उसे युवती की याद आ जाती थी। वो उससे बदला लेना चाहता था। उसे पुष्पांजलि नाम से नफरत थी। इसीलिए उसने शनिवार को शराब के नशे में पुष्पांजलि अस्पताल के बोर्ड के नीचे लिखे हेल्पलाइन नम्बर पर बम की सूचना दी।

इंस्पेक्टर हरीपर्वत आलोक कुमार ने बताया कि युवक मानसिक रूप से बीमार है। उसका इलाज भी चल रहा है। युवक के परिजन भी आ गए थे, फिलहाल चेतावनी देकर युवक को उसके परिजनों के सुपुर्द कर दिया गया है।

Ballia Tak on WhatsApp

Comments

Post A Comment

Popular Posts